जागरण संवाददाता, गिरिडीह: शारदीय नवरात्र में जहां आम लोग भक्तिभाव से मां दुर्गा की आराधना करते हैं, वहीं कानूनी दृष्टिकोण और सामाजिक तौर पर हार्डकोर और बड़े अपराधी कहे जाने वाले बंदी भी मां की भक्ति में लीन हैं। गिरिडीह सेंट्रल जेल में बंद सैकड़ों बंदियों ने नवरात्र किया। जेल वार्ड के अंदर मां दुर्गा के फोटो को आकर्षक रूप से सजा कर वे पूजा कर रहे हैं। इस दौरान जेल के अंदर परिसर में नवरात्र पर मांसाहारी भोजन बंद रहा। जेल प्रशासन ने इन बंदियों के लिए पूजन सामग्री के साथ शुद्ध शाकाहारी भोजन, फल, मिठाई की व्यवस्था की थी। कुछ बंदी फल, दूध और मिठाई खाकर मां की आराधना कर रहे थे। पूजा से जेल का माहौल भक्तिमय हो गया है।

जेल में बनी पूजा कमेटी, हार्डकोर रमेश मंडल चुने गए थे संचालक

नवरात्र को लेकर सेंट्रल जेल में बंदियों ने कमेटी भी बनाई थी। माले विधायक महेंद्र सिंह हत्याकांड में जेल में बंद नक्सली आरोपित रमेश मंडल इस कमेटी के संचालक चुने गए थे। राजद नेता कैलाश यादव हत्याकांड के आरोपित राजेश राय अध्यक्ष बने। इनकी देखरेख में नौ दिनों तक पूजा का आयोजन किया गया। आज यहां विजयादशमी मनाई जा रही है।

इनके अलावा पूजा कमेटी में उपाध्यक्ष रामबचन तिवारी, सचिव राजू मंडल, कोषाध्यक्ष इंद्रदेव तिवारी हैं। वहीं नवरात्र में मां चंडी का पाठ भी बंदी ही करते हैं। विष्णु पांडेय और नित्यानंद तिवारी पंडित की भूमिका में नजर आए, जबकि आजीवन कारावास की सजा काट रहे विकास वर्मा की हत्या के आरोपित सुखदेव राय पुजारी हैं। इनके अलावा पांच महिला बंदियों ने भी नवरात्र किया। कमेटी के सदस्यों में जयशंकर, बालाजी, आशीष गुप्ता, रोहन यादव, मो. नाज़िर, हार्डकोर नक्सली आरोपित नेमचंद महतो, छोटका मरांडी, पूर्व भाकपा माओवादी संगठन के जोनल कमांडर नवीन मांझी, पूर्व एरिया कमांडर मिथिलेश मंडल, बालेश्वर मुर्मू, प्रकाश दास शामिल हैं। इनके अलावा सभी बंदी ने पूजा में अपना योगदान दिया है। सेंट्रल जेल में करीब 700 बंदी हैं। जेल के अंदर भक्तिभाव से सभी पूजा में शामिल होते हैं।

इस संबंध में गिरिडीह सेंट्रल जेल के सहायक जेलर प्रमोद कुमार ने बताया कि नवरात्र पर जेल में कई बंदी अपनी आस्था के अनुसार व्रत‍ में रहे। इन बंदियों के लिए फल, दूध, मिठाई के साथ शुद्ध शाकाहारी भोजन की व्यवस्था की गई थी। साथ ही जेल मैनुअल के अनुसार पूजन सामग्री भी उपलब्ध कराई गई है।

Edited By: Deepak Kumar Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट