जागरण संवाददाता, पाकुड़। रानीपुर गांव के युवक मुर्तजा शेख को चेन छिनतई के मामले में चेन्नई की कांचीपुरम पुलिस ने मुठभेड़ में मार दिया। पाकुड़ मुफस्सिल थाना पुलिस ने घटना की पुष्टि तो की है, लेकिन मुर्तजा के बारे में बहुत कुछ नहीं बता पा रही है।  एसपी हृदीप पी जनार्दनन ने मंगलवार को जिले के सभी थाना प्रभारियों को मुर्तजा के आपराधिक इतिहास के बारे में पता लगाने का निर्देश दिया। जिले के विभिन्न थाने की पुलिस इसी मामले में दिनभर व्यस्त रही। मुर्तजा के एक साथी नईम अख्तर के गिरफ्तार होने की सूचना है। कांचीपुरम पुलिस ने नईम के पास से लगभग एक करोड़ रुपये भी बरामद किया है। नईम शहर के बड़ी अलीगंज का रहने वाला है। उसके बारे में पता लगाया जा रहा है।

एक करोड़ के जेवरात के साथ नईम गिरफ्तार

जानकारी के अनुसार दोनों ने मिलकर रविवार की शाम चेन्नई के श्रीपेरंबदुर पेनल्लर गांव के पास एक महिला से सोने की चेन छीन ली थी और भाग गए थे। महिला बस का इंतजार कर रही थी। वहां की पुलिस ने सोमवार को मुर्तजा को मार गिराया। घटना के बाद सीसीटीवी फुटेज से मुर्तजा और नईम की पहचान हुई थी। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर नईम को गिरफ्तार किया गया। उसके पास से हथियार भी बरामद हुआ है। इधर स्वजनों को सूचना मिलते ही घर में मातम छा गया। मुफस्सिल थाना पुलिस ने मुर्तजा के स्वजनों से शव लाने के बारे में जानकारी ली। स्वजनों का कहना था कि वे लोग शव नहीं ला सकेंगे। पुलिस अपने स्तर से कोशिश कर शव ला सकती है।

गलत का अंजाम गलत ही

चेन्नई में मुर्तजा के मुठभेड़ में मारे जाने के बाबत पाकुड़ के एसडीपीओ अजीत कुमार विमल ने कहा कि गलत करने वाले का अंजाम गलत ही होता है। यहां से बाहर जाकर जो लोग अपराध कर रहे हैं वे अपने राज्य को भी बदनाम कर रहे हैं।

Edited By: Mritunjay