Move to Jagran APP

Jharkhand Politics: इस उभरती पार्टी का टिकट पाने के लिए देना होगा इंटरव्यू, इन योग्यताओं को भी करना होगा पूरा

लोकसभा चुनाव में अपनी दमदार उपस्थिति का अहसास कराने वाली जयराम महतो की पार्टी जेबीकेएसएस ने विधानसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। जयराम महतो टिकट वितरण के लिए नेताओं की कुंडली खंगालने में जुटे हैं। टिकट की चाहत रखने वाले नेताओं से बायोडाटा मंगाया गया है। ऐसे नेताओं में से योग्य उम्मीदवार खोज निकालने के लिए महतो ने इंटरव्यू सहित अन्य योग्यताओं पर एक प्लान बनाया है।

By Jagran News Edited By: Mohit Tripathi Tue, 09 Jul 2024 09:23 AM (IST)
टिकट देने से पहले इंटरव्यू लेंगे जयराम महतो।

जागरण संवाददाता, धनबाद। इस बार लोकसभा चुनाव में अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज करानेवाली पार्टी झारखंडी भाषा खतियान संघर्ष समिति (जेबीकेएसएस) ने विधानसभा चुनाव की तैयारी तेज कर दी है। राज्य की 81 में 50 से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी है।

लोकसभा चुनाव में जेबीकेएसएस के प्रदर्शन को देखते हुए विधानसभा चुनाव के टिकट के दावेदारों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। इसके मद्देनजर जेबीकेएसएस सुप्रीमो जयराम महतो ने टिकट के लिए मापदंड तय किए हैं।

इस बीच जेबीकेएसएस की धनबाद कमेटी का विस्तार करने का निर्णय लिया है। इसे लेकर दस जुलाई को गीता रानी पैलेस भेलाटांड़ में बैठक होगी।

उम्मीदवारों से मंगाया गया बायोडाटा

बैठक में सभी उम्मीदवारों को अपना-अपना बायोडाटा लेकर पहुंचने का निर्देश दिया गया है। महिला अभ्यर्थियों को भी बुलाया गया है।

मानदंडों को पूरा करना जरूरी

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उम्मीदवारों के लिए मापदंड भी तय किए हैं। इसके अनुसार, उम्मीदवारों को अंक दिए जाएंगे। जिसका सबसे अधिक अंक होगा और मापदंड पर खरा उतरेगा, उसे जिला कमेटी में जगह मिलेगी। इसमें धनबाद जिलाध्यक्ष की भी घोषणा हो सकती है।

इन इलाकों में दिख रही पार्टी की धमक

लगभग दो वर्ष पुरानी यह पार्टी उत्तरी छोटानागपुर के साथ कोल्हान में भी अपने पांव पसार चुकी है। इसकी नजर इस बार के विधानसभा के चुनावों पर है।

इसमें टुंडी, बाघमारा, सिंदरी, चंदनकियारी, डुमरी, बोकारो, रामगढ़, मांडू, सिल्ली, ईचागढ़, बड़कागांव, हजारीबाग सदर महत्वपूर्ण विधानसभा सीट पर जेबीकेएसएस अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराने के लिए जोर लगा रही है।

उम्मीदवारों के चयन के लिए 10 मापदंड

  1. स्नातक: 10
  2. अतिरिक्त योग्यता: 5
  3. संगठन के लिए कार्य: 10
  4. आंदोलन में भागीदारी: 10
  5. आंदोलन में नेतृत्व: 15
  6. जनता का फीडबैक: 20
  7. संगठन का फीडबैक: 10
  8. राजनीतिक समझ और अनुभव: 5
  9. विशेष उपलब्धि: 5
  10. साक्षात्कार: 10

यह भी पढ़ें: Champai Soren: 'हेमंत बाबू को 5 वर्ष के लिए...', मंत्री बनते ही चंपई सोरेन का बड़ा बयान; CM पद को लेकर कही ये बात

CM बनते ही बढ़ी हेमंत सोरेन की मुश्किलें, जमानत रद्द कराने SC पहुंची ED