संस, बलियापुर(धनबाद)। सालपतरा सुनसान स्थान पर मंगलवार की देर शाम सुसनीलोया निवासी 28 वर्षीय प्रतिमा डे हत्याकांड का पर्दाफाश बलियापुर थाना पुलिस ने कर लिया है। ङ्क्षसदरी के डीएसपी अभिषेक कुमार व थाना प्रभारी श्वेता कुमार ने प्रेस कांफ्रेस कर इसकी जानकारी दी। कहा कि प्रतिमा के पति उत्तम डे का अपनी साली से प्रेम संबंध था। उससे शादी करना चाहता था। पत्नी को रास्ते से हटाने के लिए उत्तम ने अपने दो साथियों की मदद ली। उसके सहयोग से पत्नी की हत्या साजिश तहत करवा दी। कहा कि इसी कारण से उत्तम व प्रतिमा के बीच प्रेम संबंधों को लेकर विवाद भी होते रहता था। इसकी जानकारी मृतक के पिता व परिवार के अन्य सदस्यों को भी थी।

15 दिन पहले बनाई गई प्रतिमा की हत्या की योजना

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि टेंपो चालक उत्तम ने पत्नी प्रतिमा की हत्या की योजना 15 दिन पूर्व बनाई थी। योजना के तहत अपने दोस्त टेंपो चालक धनबाद ला कॉलेज के पास रहने वाले 23 वर्षीय अविनाश हलदर उर्फ मुन्ना व विनोद नगर महामाया मंदिर के निवासी विकास राय उर्फ बाबा से संपर्क किया। उसी के साथ पत्नी प्रतिमा को रास्ते से हटाने की योजना बनाई।

23 नवंबर की शाम योजना के तहत इन लोगों ने हीरक रोड पर करमाटांड़ से भीखराजपुर के बीच घटना को अंजाम देने का प्लान बनाया। वहां मौका नहीं मिलने पर अविनाश व विकास टेंपो से सालपतरा पथ रूपीहीर चौक तक पहुंचे। यहां बाइक से उत्तम के पहुंचने पर देर शाम दोनों ने रास्ते के बारे पूछताछ की। उसी समय अविनाश ने बाइक के पीछे बैठी प्रतिमा का मुंह दबाया और गले में चाकू से वार कर दिया। नीचे गिरने पर उसके पेट में चाकू से फिर वार किया गया। पति व स्थानीय लोग जख्मी को एसएनएमएमसीएच ले गए। डाक्टर ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद टेंपो से अविनाश व विकास भाग गए। प्रतिमा के पिता नरेश डे ने भी दामाद उत्तम पर पुत्री की हत्या करने का मामला बलियापुर थाना में दर्ज किया है।

पुलिस ने टीम का गठित कर आरोपितों को पकड़ा

हत्या के पर्दाफाश के लिए ङ्क्षसदरी के डीएसपी अभिषेक कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। टीम में सिंदरी थाना के इंस्पेक्टर जगदेव पाहन तिर्की, बलियापुर की थाना प्रभारी श्वेता कुमारी, पुलिस पदाधिकारी राजेश ङ्क्षसह, प्रमोद कुमार राय, राजकुमार ङ्क्षसह, उदित ङ्क्षसह आदि थे। अनुसंधान टीम ने प्राथमिकी अभियुक्त मृतक के पति उत्तम डे के मोबाइल की सीबीआर निकाली। जांच में पता चला कि घटना के दिन और घटना के पहले तक उत्तम की अविनाश से बात हुई। घटनास्थल के पास भी मोबाइल नंबर का टावर लोकेशन पाया गया। उत्तम से कड़ाई से पूछताछ के बाद उसने भी पुलिस के सामने छोटी साली से प्रेम प्रसंग होने, उससे शादी को लेकर पत्नी से विवाद से तंग आकर घटना को अंजाम देने की बात कही। पुलिस ने तीनों को शनिवार को जेल भेज दिया। घटना को अंजाम देने के दौरान प्रयुक्त धारदार चाकू को भी पुलिस ने डोमगढ़ के एक डोभा से बरामद कर लिया। घटना के समय पहने गए अविनाश के टीशर्ट व एक बाइक व टेंपों को पुलिस ने बरामद किया है। घटना के बाद लोगों ने शराब व बीयर का सेवन किया था। पुलिस ने बीयर की बोतलें भी जब्त की है।

Edited By: Mritunjay