झरिया, जेएनएन। प्यार में अक्सर ऐसा होता है ! और प्यार अगर दो विपरीत धर्म के जोड़ों के बीच हो तो दोनों को कुछ ज्यादा ही झंझावत झेलना पड़ता है। अब आसनसोल (प. बंगाल) के 19 वर्षीय गाैरव ठाकुर की प्रेम कहानी को ही लीजिए। दूसरे समुदाय की लड़की से प्यार हो गया। इस बात की जानकारी जब घरवालों को हुई तो तूफान खड़ा हो गया। मजबूरन दोनों से भाग निकले। इसके बाद दो समुदायों के बीच तनाव की स्थिति बन गई। इस तनाव को टालने के लिए आसनसोल पुलिस ने झरिया में छापामारी कर प्रेमी जोड़ों को धर दबोचा है। गाैरव अपनी प्रेमिका के साथ मामा घर में छुप कर रह रहा था। 

आसनसोल साउथ थाना में अपहरण की शिकायत 

आसनसोल साउथ थाना क्षेत्र में रहने वाले प्रेमिका के पिता ने 21 जनवरी को स्थानीय थाना में पुत्री के अपहरण की शिकायत दर्ज कराई। आसनसोल साउथ थाना के पुलिस अधिकारी  व  केस के अनुसंधानकर्ता स्वरूप मुखर्जी ने बताया कि थाना क्षेत्र के रहने वाले एक व्यक्ति ने अपने नाबालिग पुत्री को गलत नियत ने थाना क्षेत्र के रहने वाले बीगू ठाकुर के 19 वर्षीय पुत्र गौरव ठाकुर, नीरज ठाकुर और कौशल तिवारी पर अपहरण कर लेने का शिकायत दर्ज कराई। पुलिस को बताया उसकी पुत्री की उम्र 17 वर्ष है। वह नाबालिग है। नवमीं की छात्रा है। 20 जनवरी को पुत्री पास के ही दुकान से कुछ सामान लाने गई। पर वापस नही लौटी। काफी खोजबीन के भी कुछ पता नही चला। जानकारी मिली की आसनसोल के नुररूद्दीन रोड, नामित पाड़ा के रहने वाले  बिगू ठाकुर के पुत्र गौरव, नीरज ठाकुर, और कौशल तिवारी ने गलत नियत से मेरी पुत्री का अपहरण किया है। जब बिगू के आवास पूछताछ करने गया तो सभी ने गाली गलौज कर बुरे परिणाम की धमकी।

तनाव के बाद पुलिस रेस 

गाैरव के पिता आसनसोल नगर निगम के पार्षद हैं। अंतरधार्मिक प्रेम में प्रेमी जोड़ों द्वारा घर छोड़ भाग जाने के बाद आसनसोल साउथ में सांप्रदायिक तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई। इसके बाद पुलिस रेस हुई। पुलिस को सूत्रों से पता चला कि प्रेमी-प्रेमिका झारखंड के झरिया में हैं। इसके बाद आसनसोल पुलिस ने 25 दिंसबर की रात झरिया में गाैरव ठाकुर के मामा सुरेश शर्मा और सुनील शर्मा के घर में छापेमारी की। दोनों मामा घर से पकड़े गए। दोनों के पकड़े जाने के बाद आसनसोल पुलिस ने राहत की सांस ली है। अब पुलिस को उम्मीद है कि आसनसोल साउथ की स्थिति सामान्य हो जाएगी। 

प्रेमी की मां बता रही प्रेम-प्रसंग 

इस मामले में प्रेमी की मां ज्योति देवी से भी पुलिस ने पूछताछ की। ज्योति देवी के अनुसार यह अपहरण का मामला नहीं है। यह मामला प्रेम-प्रसंग का है। लड़की के दूसरे समुदाय के होने के कारण दबाव में पुलिस उनके पूरे परिवार और रिश्तेदारों को परेशान कर रही है। 

पुलिस ने अपहरण के आरोप में प्रेमी को भेजा जेल 

प्रेमी-प्रेमिका को पकड़ने के बाद पुलिस ने कानूनी कार्रवाई की है। प्रेमी को अपहरण के आरोप में जेल भेज दिया है। जबकि नाबालिग होने के कारण प्रेमिका को उसके घर वालों के हवाले कर दिया है। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस