संवाद सूत्र, कान्हाचट्टी : राजपुर थाना क्षेत्र के जमरी गांव में प्रतिबंधित मांस की अफवाह ने सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ दिया। दो समुदाय के बीच उपजे विवाद की वजह से कुछ देर तक तनाव की स्थिति हो गई और दोनों ओर से पत्थरबाजी होने लगी। पुलिस प्रशासन की तत्परता से अप्रिय घटना घटने से बच गई।

घटना की जानकारी मिलते ही एसपी ऋषभ कुमार झा दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति की समीक्षा की। उनके साथ अपर पुलिस अधीक्षक अभियान निगम प्रसाद, सदर एसडीपीओ वरुण रजक, इंस्पेक्टर लव कुमार भी थे। मामले को शांत कराया और दोनों पक्षों को थाना में बुलाया। गांव फिलहाल पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है। सैट, जैप व झारखंड पुलिस के जवान कैंप किए हुए हैं।

जानकारी के अनुसार जमरी गांव के एक घर में प्रतिबंधित मांस रखे जाने की अफवाह पर बजरंग दल के कार्यकर्ता वहां पहुंच गए और प्रतिबंधित मांस की खोज करने लगे। इसकी सूचना राजपुर पुलिस को मिली। सूचना मिलने के पश्चात पुलिस गांव पहुंचकर दोनों पक्षों को शांत करा दिया। हालांकि इस दौरान पुलिस को प्रतिबंधित मांस नहीं मिल सका। आधे घंटे पश्चात देखते ही देखते दोनों समुदायों में स्थिति तनावपूर्ण हो गई और पत्थरबाजी होने लगी। फिलहाल गांव में शांति का माहौल कायम है। हालांकि इस घटना में एक पक्ष के चार लोग घायल हो गए।

इस संबंध में एसपी ऋषभ कुमार झा ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran