बोकारो थर्मल (बेरमो) : रामगढ़ के घुटवा गांव कि एक 15 वर्षीय किशोरी रविवार को भाग कर अपने प्रेमी से मिलने नावाडीह पहुंच गई। जहां प्रेमी के बड़े भाई ने सोमवार को किशोरी को बोकारो थर्मल चौक पर छोड़ कर फरार हो गया। चौक पर काफी देर तक किशोरी को अकेला बैठा देख स्थानीय लोगों ने बोकारो थर्मल थाना की पुलिस को सूचना दी। पुलिस किशोरी को अपने साथ ले गई। थाना प्रभारी रवींद्र कुमार ने किशोरी को चाइल्ड लाइन बोकारो को सौंप दिया। चाइल्ड लाइन की सदस्य आशा पाठक ने जब किशोरी से पूछा तो उसने बताया कि वह कक्षा आठ में पढ़ती है। नावाडीह प्रखंड के ऊपरघाट स्थित पलामू गांव निवासी एक युवक से प्रेम करती है। दोनों के बीच फेसबुक के जरिए पहचान हुआ था। इसके बाद फोन पर बातचीत होती थी। वह अपने घर रामगढ़ से भागकर रविवार की रात थर्मल पहुंच गई थी। जहां प्रेमी के बड़े भाई ने अपने चाची के घर रात में ठहराया और सोमवार की सुबह बाइक पर बैठा कर यहां छोड़ दिया।

वहीं जब बोकारो थर्मल थाना की पुलिस ने युवक को बुलाकर पूछा तो उसने किशोरी को पहचाने व प्रेम की बात से साफ इन्कार कर दिया। थाना प्रभारी ने किशोरी को सारी कागजी कार्रवाई के बाद चाइल्ड लाइन बोकारो की सदस्य आशा पाठक, आरती कुमारी एवं उत्तम सिंह को सौंप दिया। चाइल्ड लाइन के सदस्य किशोरी को अपने साथ बेरमो सेंटर लेकर गए। वहां से किशोरी के स्वजनों से संपर्क कर बुलाया। किशोरी के बड़े पापा एवं चचेरी बहन लेने आई थी। चाइल्ड लाइन के सदस्यों ने किशोरी को स्वजनों को सौंपते हुए किसी भी तरह की परेशानी होने पर मदद करने का आश्वासन दिया।

Edited By: Jagran