राज्य ब्यूरो, श्रीनगर : श्री अमरनाथ यात्रा पर मौसम जानलेवा बन गया है। यात्रा के आधार शिविर बालटाल से पवित्र गुफा की तरफ जाते रास्ते पर बरारीमर्ग और रेलपथरी के बीच मंगलवार शाम को बादल फटने से आई बाढ़ व भूस्खलन में दो श्रद्धालुओं की मौत और चार अन्य घायल हो गए, जिनमें तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है। यात्रा मार्ग पर कई अन्य स्थानों पर भी नुकसान पहुंचा है। बालटाल में कार पार्किंग स्थल के पास बाढ़ आने से कई वाहनों को नुकसान होने की सूचना है। देर रात तक सेना, पुलिस, आइटीबीपी, एनडीआरएफ, एसआरटीपी के जवान राहत कार्यो में जुटे रहे। मृतकों व घायलों को अस्पताल व चिकित्सा शिविरों में पहुंचाया गया।

मृतकों की पहचान ज्योति शर्मा पत्नी विनोद शर्मा निवासी नारायणा दिल्ली, अशोक मेहता पुत्र खारो मेहता निवासी वार्ड नंबर तीन, रामपुर, तुमरा, पटना, बिहार के रूप में हुई है। घायलों में श्रद्धालु मनसुख लाल पुत्र स्वाजी भाई निवासी जाम नगर, गुजरात व दो खच्चरवाले रियाज अहमद बागे और आरिफ हुसैन खटाना दोनों निवासी अनंतनाग के रूप में हुई है।

इससे पूर्व मंगलवार सुबह भी तीन अन्य श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जिनमें एक की भूस्खलन की चपेट में आने से और दो की हृदयगति रुकने से जान चली गई। 28 जून से शुरू हुई यात्रा में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

संबंधित अधिकारियों ने बताया कि सुबह आधार शिविर बालटाल में एक लंगर में 75 वर्षीय महिला ठोटा राधनम की हृदयगति रुकने से मौत हो गई। वह आंध्रप्रदेश में फायवलम की रहने वाली थीं। इसी दौरान संगम क्षेत्र में 65 वर्षीय श्रद्धालु राधा कृष्ण सैस्त्री ने अचानक सीने में तेज दर्द की शिकायत की। उन्हें तुरंत निकटवर्ती चिकित्सा शिविर में पहुंचाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। डॉक्टरों के मुताबिक, उनकी मौत हृदयाघात से हुई है। वह भी आंध्रप्रदेश के अनंतपुर के रहने वाले थे। दोनों श्रद्धालुओं के शव बालटाल स्थित चिकित्सा शिविर में रखे गए हैं। आवश्यक कानूनी औपचारिकता के बाद शव उनके परिजनों के हवाले कर दिए जाएंगे। इससे पूर्व गत सोमवार को भी यात्रा मार्ग पर बरारीमर्ग और रेलपथरी के बीच भूस्खलन की चपेट में आकर उत्तराखंड से आए श्रद्धालु पुष्कर नाथ गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां मंगलवार सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया। इससे पहले श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान एक बीएसएफ अधिकारी, एक लंगर सेवादार और एक पालकी वाले की भी मौत हो चुकी है।

-----------------

शिकारा पलटा, दो लापता :

मंगलवार शाम को आई तेज आंधी व तूफान में कश्मीर में नगीन झील में एक शिकारा पलट गया। शिकारे में सवार चार लोगों में से दो को बचा लिया गया, जबकि दो का कोई सुराग नहीं मिला। उधर, त्राल में भी बादल फटने की सूचना है।

Edited By: Jagran