Move to Jagran APP

Attack On Airforce Vehicle: वायुसेना के वाहन पर हमले के पीछे पाकिस्तानी आतंकी हमजा व उसके साथी! पहले भी कर चुके कई हमले

Attack On Airforce Vehicle शनिवार देर शाम आतंकियों ने वायुसेना के वाहन पर कई राउंड फायरिंग कर दी। इस फायरिंग के दौरान पांच जवान घायल हो गए जिसमें से एक जवान की इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं इस हमले के पीछे पाकिस्तानी आतंकी हमजा और उसके साथियों की साजिश नजर आ रही है क्योंकि सेना के ऊपर इससे पहले भी कई तरह के हमले हो चुके हैं।

By gagan kohli Edited By: Deepak Saxena Published: Sun, 05 May 2024 12:37 AM (IST)Updated: Sun, 05 May 2024 12:37 AM (IST)
वायुसेना के वाहन पर हमले के पीछे पाकिस्तानी आतंकी हमजा व उसके साथी (फाइल फोटो)

जागरण संवाददाता, राजौरी। वायु सेना के वाहन पर शनिवार देर शाम को आतंकियों ने उस समय हमला किया, जब जवान राशन लेकर अपने शिविर की तरफ बढ़ रहे थे। शशीधार के जंगल में आतंकियों ने वाहन पर हमला कर दिया। इस हमले के पीछे वही ग्रुप बताया जा रहा है जो पिछले काफी समय से इसी क्षेत्र में सक्रिय है और इस ग्रुप की कमान लश्कर कमांडर अबू हमजा के पास है।

20 अप्रैल को किए हमले में हुए थे पांच जवान बलिदान

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, शशीधार के जंगल में वायु सेना के वाहन के ऊपर हमला करने वाला ग्रुप पुराना ग्रुप है और पिछले लंबे समय से सुरनकोट, बफिलेयाज, टोपा पीर, डेरा की गली, भाटीधार, संगेयोट, भंगाई आदि क्षेत्रों में सक्रिय है। इसी ग्रुप ने संगेयोट में पिछले वर्ष बीस अप्रैल को सेना के वाहन पर हमला करके पांच जवानों को बलिदान कर दिया था।

21 दिसंबर को भी किया था सेना पर हमला

इसी ग्रुप ने टोपा पीर क्षेत्र में पिछले वर्ष 21 दिसंबर को सेना के वाहन के ऊपर हमला करके चार जवानों को बलिदान कर दिया था। इसके बाद दो सप्ताह पहले इसी ग्रुप ने राजौरी के शाहदरा शरीफ क्षेत्र में सेना के जवान के घर हमला करके उसके भाई की हत्या कर दी थी। उसके बाद आतंकी वहां से सुरक्षित निकल कर अपने ठिकाने पर पहुंच गए थे।

एम-4 राइफलों से लैस है आतंकी ग्रुप

सूत्रों का कहना है कि यह ग्रुप पिछले लंबे समय से इन्हीं क्षेत्रों में अपनी गतिविधियों को अंजाम दे रहा है और यहां पर इनके कुछ सहयोगी भी मौजूद है जो इनका खाने पीने का सामान पहुंचने का कार्य कर रहे है। यह ग्रुप एम-4 राइफलों से लैस है और हमला करने के बाद अपने ठिकानों तक सुरक्षित पहुंचने की महारत रखता है। यहीं कारण है कि इस ग्रुप ने जितनी भी वारदातों को अंजाम दिया और वहां से सुरक्षित निकलने में सफल रहे।

ये भी पढ़ें: Anantnag Accident: अनियंत्रित होकर सैन्य वाहन खाई में गिरा, एक जवान बलिदान; नौ घायल

बस्ती से निकलकर वायु सेना के वाहन पर बरसाई गोलियां

जिस मार्ग से वायु सेना का वाहन गुजर रहा था उस मार्ग पर सेना तैनात है और ऊपर जाकर वायु सेना का शिविर है। चार किलोमीटर लंबे इस मार्ग पर सेना के कई शिविर मौजूद है। शशीधार के जंगल में एक बस्ती है यहां से ही आतंकियों ने वायु सेना के वाहनों को आते हुए देखा और उसी समय बस्ती से बाहर आकर आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी।

सूत्रों का कहना है कि आतंकी पहले से बस्ती में मौजूद थे और उन्हें पता था कि वायु सेना के वाहन खाने पीने का सामान लेने के लिए गए है और इतने समय तक लौटेंगे। जैसे ही वाहन बस्ती के करीब पहुंचे उसी समय आतंकियों ने एक वाहन को निशाना बनाकर गोलीबारी शुरू कर दी। जिसमें एक जवान बलिदान हो गया और चार अन्य घायल जिनमें से एक जवान की हालत गंभीर बताई जा रही है।

ये भी पढ़ें: Firing in Jammu Kashmir: जम्मू-कश्मीर के पुंछ में वायुसेना के वाहन पर घात लगाकर हमला, एक जवान बलिदान, चार घायल


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.