Move to Jagran APP

Kathua Encounter: कठुआ में सैन्य काफिले पर आतंकी हमला, पांच जवान बलिदान; सेना ने हेलीकॉप्टर से उतारे पैरा कमांडो

जम्मू-कश्मीर के कठुआ (Kathua Encounter) जिले से 150 किलोमीटर दूर लोहाई मल्हार के बदनोटा गांव में सेना के वाहन पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया। इस हमले में सेना के पांच जवान बलिदान हो गए हैं। वहीं आतंकियों के तलाश के लिए सेना ने कठुआ में हेलीकॉप्टर की मदद से पैरा कमांडो उतारे हैं। फरार आतंकियों की तलाश की जा रही है।

By Agency Edited By: Deepak Saxena Tue, 09 Jul 2024 12:01 AM (IST)
कठुआ में आतंकियों और सेना के बीच मुठभेड़ जारी (फाइल फोटो)।

पीटीआई, कठुआ/जम्मू। जम्मू-कश्मीर के कठुआ (Kathua Encounter) जिले के सुदूर माछेदी इलाके में आतंकवादियों ने सेना के वाहनों पर गोलीबारी कर दी। इसमें सेना के पांच जवान बलिदान हो गए। वहीं, पांच जवान घायल हैं। सेना पर हमले की बाद आतंकी फरार हो गए हैं। इसके लिए सेना ने कठुआ में हेलीकॉप्टर के जरिए पैरा कमांडो को उतारा है। फरार आतंकियों की तलाश जारी है। 

बिलावर के बदनोता में जारी मुठभेड़ में आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई को तेज करने के लिए सेना ने अहम कदम उठाए हैं। उन्होंने इलाके में हेलीकॉप्टर से पैरा कमांडो उतारे, जिससे आतंकियों का खात्मा किया जा सके।

अधिकारियों ने बताया कि घटना कठुआ शहर से 150 किलोमीटर दूर लोहाई मल्हार के बदनोटा गांव में हुई, जब सेना के कुछ वाहन इलाके में नियमित गश्त पर थे। उसी दौरान आतंकियों ने गोलीबारी कर ग्रेनेड से हमला किया था। सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की और अंतिम रिपोर्ट मिलने तक गोलीबारी जारी थी। अधिकारियों ने बताया कि इलाके में अतिरिक्त बल भेजा गया है।

पांच जवान बलिदान, पांच घायल

जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले के सुदूर माछेड़ी इलाके में सोमवार को आतंकवादियों ने सेना के वाहन पर घात लगाकर हमला किया, जिसमें सेना के पांच जवान बलिदान हो गए जबकि छह घायल हैं। अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों ने कठुआ शहर से 150 किलोमीटर दूर लोहाई मल्हार के बदनोटा गांव के पास माछेड़ी-किंडली-मल्हार मार्ग पर दोपहर करीब साढ़े तीन बजे नियमित गश्त पर निकले सैन्य वाहनों पर ग्रेनेड फेंका और गोलीबारी की।

5 जवान घायल हुए और 5 की मौत हो गई, जिनका विवरण इस प्रकार है।

बलिदान जवान

(1) जेसीओ (नायब सूबेदार) अनंत सिंह

(2) हेड कांस्टेबल- कमल सिंह

(3) राइफलमैन- अनुज सिंह

(4) राइफलमैन- असरश सिंह

(5) नायक- विनोद कुमार

घायल व्यक्तियों का विवरण एसडीएच बिलावर में स्थानांतरित कर दिया गया है।

(1) हेड कांस्टेबल- अरविंद सिंह

(2) हेड कांस्टेबल- सुजान राम

(03) नायक- सागर सिंह

(04) हेड कांस्टेबल- गगनदीप सिंह

(05) राइफलमैन- कार्तिक

उत्‍तराखंड के टिहरी जिले के रहने वाले थे बलिदान राइफलमैन आदर्श सिंह

जम्मू के कठुआ में सैन्य वाहन पर हुए आतंकी हमले में उत्तराखंड के टिहरी जिले के आदर्श सिंह भी बलिदान हुए हैं। 25 वर्षीय आदर्श सिंह वर्ष 2019 में गढ़वाल राइफल में भर्ती हुए थे। इसी वर्ष फरवरी में ताऊजी के बेटे की शादी में समारोह के लिए वे घर आए थे। वह मूल रूप से ग्राम थाती डागर, पीओ थाती डागर, ब्लाक कीर्तिनगर, जिला टिहरी गढ़वाल के रहने वाले थे।

जंगल की ओर भाग गए आतंकी

अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की, लेकिन आतंकवादी पास के जंगल में भाग गए। उन्होंने बताया कि अंतिम रिपोर्ट मिलने तक आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच रुक-रुक कर गोलीबारी हो रही थी। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों को बेअसर करने के लिए इलाके में अतिरिक्त बल भेजा गया है।

माना जा रहा है कि हाल ही में सीमा पार से घुसपैठ कर ये आतंकवादी ऊंचाई वाले इलाकों की ओर बढ़ रहे हैं। एक अधिकारी ने बताया कि कुल 10 जवान घायल हुए हैं और उनमें से चार ने बाद में दम तोड़ दिया है। पिछले चार हफ्तों में कठुआ जिले में यह दूसरी बड़ी घटना है। 12 और 13 जून को तलाशी और घेराबंदी अभियान के दौरान भीषण गोलीबारी में दो आतंकवादी और एक सीआरपीएफ जवान बलिदान हो गया था।

कुलगाम और चिन्नीगाम इलाकों में हाल ही में किए गए ऑपरेशन के बाद सोमवार को कठुआ जिले के माछेदी इलाके में आतंकवादियों ने भारतीय सेना के काफिले पर हमला कर दिया। अधिकारियों के अनुसार, जम्मू और कश्मीर का यह इलाका भारतीय सेना की 9वीं कोर के अंतर्गत आता है।

हिजबुल मुजाहिदीन के लिए बड़ा झटका- कमांडर ब्रिगेडियर

रक्षा अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादियों की गोलीबारी के बाद हमारे सैनिकों ने भी जवाबी कार्रवाई की। इस बीच जम्मू और कश्मीर में दो अलग-अलग मुठभेड़ों में छह आतंकवादियों के मारे जाने के बाद, आरआर के कमांडर ब्रिगेडियर पृथ्वीराज चौहान ने सोमवार को कहा कि दक्षिण कश्मीर में आतंकवादियों का मारा जाना हिजबुल-मुजाहिदीन के लिए एक बड़ा झटका है।

ये भी पढ़ें: Farooq Abdullah: पंजाबी भाषा और आतंकवाद को लेकर क्या बोल गए फारूक अब्दुल्ला, कहा- 'दोनों देश टेररिज्म पर करें वार्ता'

एडीजीपी आनंद जैन ने कहा कि मोदरगाम गांव में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच पहली मुठभेड़ हुई। कुछ घंटों बाद, जिले के फ्रिसल चिन्नीगाम इलाके में एक और मुठभेड़ शुरू हुई। जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ महीनों में आतंकवादी हमलों की संख्या में 'बढ़ोतरी' देखी गई है। जून मेंजम्मू-कश्मीर के डोडा जिले के गंडोह, भद्रवाह सेक्टर में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों को मार गिराया गया था, ने कहा था।

ये भी पढ़ें: जम्मू संभाग में आतंकी हमलों में आई तेजी के पीछे लश्कर-ए-तैयबा के इस आतंकी का हाथ, NIA की मोस्ट वांटेड लिस्ट में भी है शामिल

कुलगाम एनकाउंटर में छह आतंकी हुए थे ढेर

बता दें कुलगाम के मोदरगाम और चिन्नीगाम में बीते शनिवार को आतंकियों और सेना के बीच मुठभेड़ हुई थी। इस मुठभेड़ में सेना के दो जवान बलिदान हो गए। वहीं, छह आतंकियों को भारतीय सेना ने ढेर किया।