कटड़ा, संवाद सहयोगी : कई दिन के बाद मंगलवार को मौसम में सुधार होने पर वैष्णो देवी के श्रद्धालुओं को बड़ी राहत मिली। सुबह से बारिश बिल्कुल नहीं हुई। हालांकि बीच-बीच में बादलों का आना-जाना लगा हुआ है। लेकिन ज्यादातर समय श्रद्धालुओं के लिए हेलीकाप्टर सेवा बहाल रही। पिछले कई दिन से बहुत कम समय वैष्णो माता केे भक्तों को हेलीकाप्टर सेवा का लाभ मिल सका था। त्रिकुटा पर्वत पर धुंध और बादल के कारण उड़ान भड़ना मुश्किल था। बहरहाल, देश भर से आने वाले श्रद्धालुओं का उत्साह देखने लायक है।

खराब मौसम के बावजूद देश भर से वैष्णो माता के चरणों में हाजिरी लगाने के लिए पूरे उत्साह से पहुंचते रहे। दो अगस्त को भी 15,500 श्रद्धालुओं ने माता के दरबार में हाजिरी लगाई थी। मंगलवार दोपहर बारह बजे तक 4,000 हजार श्रद्धालु भवन की ओर प्रस्तान कर चुके थे। यात्री पंजीकरण काउंटर पर भक्तों की कतार लगी हुई थी। श्रद्धालुओ की सुविधा के लिए श्राइन बोर्ड की ओर से कटड़ा से लेकर भवन मार्ग और माता के दरबार तक सुरक्षा और सुविधाओं का ख्याल रखा जा रहा है। सामने स्वतंत्रता दिवस होने के कारण सुरक्षा भी कड़ी कर दी गई है।

वहीं श्रद्धालुओं को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए यात्रा शुरू करने से पहले दर्शनी ड्योढ़ी पर कोरोना टेस्ट की भी व्यवस्था लगातार जारी है। जो यात्री अपने साथ कोरोना टेस्ट रिपोर्ट नहीं ला रहे हैं, उनकी रैपिड टेस्ट किया जा रहा है। जगह-जगह संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी उपाय करने को सावधान किया जा रहा है। शारीरिक दूरी और मास्क लगाने की हिदायत दी जा रही है। घोड़ा, पिट्ठू और पालकी की सेवा भी भक्तों को मिल रही है। सुहाने मौसम के बीच मां के जयकारे लगाते हुए भक्त वैष्णो देवी की अलौकिक दर्शन कर रहे हैं। मौसम के मिजाज को देखते हुए मां वैष्णो देवी के सभी मार्गों पर आपदा प्रबंधन दल काे भी तैनात किया गया है।