जम्मू, राज्य ब्यूरो । केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडविया ने स्वस्थ राष्ट्र के लिए मौजूदा स्वास्थ्य ढांचे को अपग्रेड करने को जरूरी बताते हुए कहा कि लोगों का अच्छा स्वास्थ्य और राष्ट्र का विकास साथ-साथ चलते हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य देखभाल के सांकेतिक सामाजिक-आर्थिक विकास के मानकों को अपग्रेड करने और विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इस संबंध में कई कदम उठाए जा रहे हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने यह बात बारामुला जिले के दौरे के दौरान कही। मंत्री बारामुला में केंद्र सरकार के जनसंपर्क कार्यक्रम के तहत आए हैं। केंद्र सरकार के जम्मू-कश्मीर के स्वास्थ्य ढांचे को विकसित करने की वचनबद्धता को दोहराते हुए स्वास्थ्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चल रही सरकार लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवा रही है। समाज के कमजाेर वगों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मेडिकल कालेज और एम्स स्थापित कर जम्मू-कश्मीर में स्वास्थ्य सुविधाओं को लगातार अपग्रेड किया जा रहा है।

केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना का जिक्र करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि तीन साल में दो करोड़ लोगों को इसका लाभ पहुंचा है। इससे पांच साल तक की स्वास्थ्य सुविधा लोगों को द्वितीय और तृतीय स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों में मिल रही है। कीमती स्वास्थ्य सेवाएं भी यहां पर हमारी आय के एक बड़े भाग को खर्च कर देती है। हेल्थ इंश्योरेंस योजना एक क्रांतिकारी कदम है। हर साल स्वास्थ्य के बजट को बढ़ाया जा रहा है। लोगों की जरूरतों के लिहाज से इसे बढ़ाया जाता है। उन्होंने आश्वासन दिया कि केंद्र सरकार यहां पर लोगों की जरूरतों के लिहाज से स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत करेगी।

इससे पहले केंद्रीय मंत्री ने हाई टेक सिटी स्कैन मशीन का उप जिला अस्पताल सोपोर में उदघाटन किया। इस पर 1.72 करोड़ रुपये खर्च आए। उप जिला अस्पताल सोपोर में जन औषधी केंद्र का उदघाटन किया। इसके अलावा नए मेडिकल कालेजों और एम्स के सफर पर लगाई फोटा प्रदर्शनी का जीएमसी बारामुला में उदघाटन किया। यही नहीं 50 बिस्तरों की क्षमता वाले पोर्टेबल हेल्थकेयर यूनिट बारामुला का भी मंत्री ने उदघाटन किया।

अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विवेक भारद्वाज, जिला विकास परिषद की चेयरपर्सन सफीना बेग, डिप्टी कमिश्नर बारामुला भूपेंद्र कुमार, नए मेडिकल कालेजों के डायरेक्टर डा. यशपाल शर्मा, प्रिंसिपल जीएमसी बारामुला डा. रूबी रेशी भी मौजूद थीं।  

Edited By: Vikas Abrol