जम्मू, विकास अबरोल। जम्मू-कश्मीर के नाम को प्रोफेशनल रेसलिंग की दुनिया में चार चांद लगाने की तैयारी शुरू हो चुकी है। अगर सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही विश्व भर में विख्यात World Wrestling Entertainments वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंटस (WWE) की दुनिया में जम्मू-कश्मीर के रामबन तहसील के दूरदराज के गांव नील का छह फीट से ऊंची कद-काठी वाला बादशाह खान रेसलिंग रिंग में प्रतिद्वंद्वी पहलवानों को धूल चटाते हुए नजर आएगा।

23 वर्षीय बादशाह खान इस समय द ग्रेट खली The Great Khali की जालंधर स्थित एकेडमी में कड़ा अभ्यास कर अपने आप को मुंबई में आयाेजित होने वाली आगामी वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंटस के इंडिया ट्राइआउटस के लिए तैयार कर रहे हैं। इस प्रतियोगिता में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले भारतीय पहलवान यूनाइटेड स्टेट्स आफ अमेरिका के ओरलेंडा स्थित वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंटस के परफार्मेंस सेंटर में चयनित हो सकेंगे। यहीं वजह है कि भारत में आयोजित होने वाले वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंटस के ट्राइआउटस में 40 शीर्ष पहलवान भाग लेंगे। चूंकि जम्मू-कश्मीर के बादशाह खान इस समय देश के शीर्ष पहलवानों की सूची में पांचवें पायदान पर हैं इसलिए वह किसी भी हालत में अपने हाथों से यह स्वर्णिम मौका जाने नहीं देने के लिए हर दिन 10 घंटों का कड़ा अभ्यास कर रहे हैं।

वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंटस में द ग्रेट खली जैसा नाम कमाना चाहते हैं बादशाह

बादशाह खान अपने गुरु द ग्रेट खली की तरह वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंटस (WWE) की दुनिया में नंबर-1 पहलवान बनना चाहते हैं। यही वजह है कि वह खली की देखरेख में छह घंटे वर्कआउट और चार घंटे रेसलिंग के अभ्यास में जुटे रहते हैं। उन्होंने बताया कि वह अपने अब्बू मोहम्मद सलीम बोहरु जो सीआरपीएफ में सब इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत हैं, से बचपन से ही रेसलिंग के पहलवानों की कहानियां सुनते आए थे। उनके पिता ने उन्हें द ग्रेट खली के जिंदगी के संघर्ष से लेकर वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंटस की दुनिया में नाम कमाने की पूरी दास्तां सुनाई। इसके बाद से ही उनमें रेसलिंग की दुनिया में जाने का जुनून पैदा हो गया। उन्हाेंने बताया कि परिवार के प्रत्येक सदस्य उनकी अम्मी जाना बेगम, भाई आफताब सलीम बोहरु और बहन नोरीना सलीम बोहरु ने उनका भरपूर सहयोग किया।

द ग्रेट खली ने आरिफ को बनाया बादशाह खान: 

बादशाह खान बताते हैं कि वह दो बार द ग्रेट खली की जालंधर स्थित एकेडमी में दाखिला लेने के लिए दिन वर्ष पहले आए। पहली बार तो उन्हें निराशा हाथ लगी लेकिन दूसरी बार वह पूरी तैयारी से एकेडमी में पहुंचे और अपना पूरा दमखम लगाकर अपने आप को साबित करने की कोशिश की। द ग्रेट खली उनके प्रदर्शन से इतना खुश हुए कि उन्हें आरिफ सलीम बोहरु से बादशाह खान का नाम दे दिया। उन्होंने कहा कि अब बादशाह उपनाम देने से उनकी जिम्मेदारी पहले से कहीं गुना अधिक बढ़ गई है। अगर सभी की दुआएं उनके साथ रहेंगी तो वो दिन दूर नहीं जब वर्ल्ड रेसलिंग इंटरटेनमेंटस की दुनिया में प्रोफेशनल रेसलर बनने वाले जम्मू-कश्मीर के पहले खिलाड़ी होंगे।

बादशाह खान की कद काठी:

  • उम्र - 23 वर्ष
  • वजन - 105 किलोग्राम
  • लंबाई - 6 फीट दो इंच
  • सीना - 48 इंच
  • बाइसेप्स आर्म- 18 इंच

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021