जम्मू, विवेक सिंह । केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद जोश से भरे लद्दाख में क्षेत्र कर महिलाएं नए मुकाम हासिल कर रही हैं। खेल के मैदान से लेकर फैशन जगत में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाकर वे स्पष्ट संदेश दे रही हैं कि उन्हें अब आगे बढ़ने से कोई रोक नहीं सकता है।

पांच अगस्त 2019 के बाद लद्दाख में कश्मीर प्रशासन का हस्तक्षेप खत्म हो गया। लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश बनते ही लद्दाख की महिलाएं अपने सपने साकार करने की राह पर चल निकली। लद्दाख की पद्मा यांगचैन व जिगमित दिस्कित लद्दाख की नई पीढ़ी की प्रतिनिधि हैं। दोनों युवतियां लद्दाख के पारंपरिक परिदानों काे देश, विदेश में नई पहचान दिला रही हैं। उन्होंने लंदन विंटर फेस्टिवल में हिस्सा लेकर लद्दाख भेड़ की उन नांबू व याक की उन खुलु से बने परिधान प्रदर्शित कर लद्दाख को नई पहचान दिलाने की दिशा में कार्रवाई की है।

लद्दाख की बेटी लीकजेस आंगमो ने नेशनल रोड साइकलिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता

वहीं खेल के मैदान में तो लद्दाख की लड़कियों का हौंसला इसम समय सिर चढ़कर बोल रहा है। लद्दाख की बेटी लीकजेस आंगमो ने गत दिनों मुंबई में 25वीं नेशनल रोड साइकलिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीत कर क्षेत्र का नाम रोशन कर दिया। लीकजेस साइकलिंग में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली लद्दाखी लड़की है। उसने स्वर्ण पदक पचास किलोमीटर साइकलिंग प्रतियोगिता जीता।

विंटर खेलों में तो लेह, कारगिल की लड़कियां खेल के मैदान में काबिज हैं

विंटर खेलों में तो लेह व कारगिल की लड़कियां खेल के मैदान में काबिज हैं। लद्दाख में इन सर्दियों में विंटर खेलों को बढ़ावा देने की दिशा में बहुत कार्य हुए हैं। ऐसे में लेह में कारगिल में आइस स्केटिंग, आइस हाॅकी व स्नो स्कीईंग की कई प्रतियोगिताओं में लेह व कारगिल जिलों की महिलाओं ने दम दिखाया। यह सिलसिला जारी है।

कुछ दिन पहले लेह के नोबरा में क्षेत्र की 41 महिलाओं ने सात दिवसीय आइस क्लाइविंग महोत्सव में दुर्गम हालात में बर्फ से लदी चट्टानों पर चढ़कर साबित किया कि अब उन्हें नई ऊंचाइयां छूने से कोई रोक नहीं सकता है। अब वे अपने अपने इलाकों की लड़कियों को आइस क्लाइंबिंग में आगे आने के लिए प्रेरित कर रही हैं।

सांसद जामयांग सेरिंग नाम्गयाल ने लद्दाखी महिलाओं के हौंसले की सराहना की

लद्दाख के सांसद जामयांग सेरिंग नाम्गयाल ने  लद्दाखी महिलाओं के हौंसले की सराहना की है। सांसद का कहना है कि लद्दाख की लड़कियां साहसी हैं। वे लीख से हटकर कुछ कर दिखाने के लिए मैदान में हैं। भविष्य में भी इसी तरह से अपना बुलंद हौंसला दिखाती रहेगी।

Edited By: Vikas Abrol