जम्मू, जागरण संवाददाता : शहर को खूबसूरत बनाने के लिए स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत कई परियोजनाओं पर काम चल रहा है। इसमें से ज्यूल चौक पर खूबसूरत वर्टिकल गार्डेन बनकर तैयार हो गया है। शहर को बस स्टैंड में एक बहुमंजिला पार्किंग का तोहफा भी मिल गया है और कई इलाकों में सड़कों के किनारे पार्किंग भी शुरू की गई है। कई इलाकों में खूबसूरत प्रवेशद्वार बनाकर वहां की खूबसूरती को बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है।

वहीं, तवी नदी में कृत्रिम झील बनाने के प्रोजेक्ट पर भी तेजी से काम हो रहा है। उम्मीद है कि एक माह में पंजतीर्थी इलाके में भी बहुमंजिला पार्किंग खुल जाएगी। इन सब प्रयास के बावजूद शहर के विभिन्न इलाकों में सड़कों के किनारे होने वाली अवैध पार्किंग पर अब तक लगाम नहीं लग पाई है। नगर निगम और यातायात पुलिस ने कई बार वादे किए, कई अभियान भी चलाए गए, लेकिन अब भी शहर की खूबसूरती पर ये दाग लगाने का काम कर रहे हैं।

इतना ही नहीं, शहर के भीडभाड़ वाले बाजारों में सड़कों के किनारों अवैध रूप से खड़े किए जाने वाले वाहनों की वजह से हादसे भी होते हैं, फिर भी प्रशासन की नींद नहीं खुल रही है। इसके चलते बाजार में खरीदारी के लिए आने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अवैध पार्किंग से सड़कों की चौड़ाई कम हो जाती है, जिससे राहगीरों व वाहनों को जगह कम मिलती है। कुछ दिनों पहले, इसी वजह से बीसी रोड ड्यूटी दे रहे एक एक ट्रैफिक कर्मी की सड़क हादसे में जान चली गई थी। हालांकि इसके बाद भी यातायात विभाग और नगर निगम की नींद नहीं टूटी है।

पुराने शहर में लगता है सबसे ज्यादा जाम : पुराने शहर में बीसी रोड, इंदिरा चौक, केसी चौक, ज्यूल चौक, इंद्रा चौक, शालामार चौक, परेड, कच्ची छावनी जैसे भीड़भाड़ वाले इलाकों में सड़क किनारे सरेआम अवैध रूप से वाहन खड़े किए जाते हैं। ट्रैफिक कर्मी लोगों को अपने वाहन पार्किंग में खड़े करने की हिदायत देते हैं, लेकिन लोग सुधरने का नाम नहीं ले रहे। पुराने शहर में अवैध पार्किंग से अक्सर जाम की स्थिति बनी रहती है। उच्च न्यायालय ने भी अवैध पार्किंग से निपटने के लिए निर्देश दिए हैं, इसके बाद भी कुछ खास नहीं हो रहा है।

गृहमंत्री के दौरे के समय पीडब्ल्यूडी ने आनन-फानन में ठीक की सड़क : शहर के बीसी रोड इलाके में जम्मू स्मार्ट सिटी लिमिटेड की तरफ से निर्माण कार्य करवाया जा रहा है। इसके चलते सड़क के किनारों को खोदा डाला गया है। जहां सड़क की खोदाई हुई है, उसके कुछ आगे भी लोग वाहन खड़े कर देते हैं, जिससे हादसों की आशंका बनी रहती है। यहां सीवर लाइन बिछाने का काम भी बहुत धीमी गति से चल रहा है। ऐसे में करीब दो माह से राहगीरों और वाहन चालकों को परेशान होना पड़ता है। गृहमंत्री अमित शाह के दौरे को देखते हुए पीडब्ल्यूडी ने आनन-फानन में एक तरफ की सड़क को पैच वर्क कर ठीक कर दिया, लेकिन दूसरी लेन अब भी खस्ताहाल है। 

Edited By: Rahul Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट