जम्मू, जागरण संवाददाता : लगातार बढ़ते राजस्व घाटे को पूरा करने के लिए जम्मू पावर डिस्ट्रीब्यूशन कारपोरेशन लिमिटेड ने बिजली महंगी करने को लेकर रेगुलेटरी कमीशन के पास याचिका दायर की है, लेकिन इससे संबंधित प्रस्ताव पेश करते हुए छोटे उपभोक्ताओं का खास ख्याल रखा गया है। इस प्रस्ताव के मुताबिक अब जो जितनी कम बिजली का इस्तेमाल करेगा, उसे उतनी सस्ती बिजली उपलब्ध होगी।

इससे समाज के निम्न व मध्यम वर्ग को बिजली बिल में राहत मिलेगी। अगर कारपोरेशन का प्रस्ताव मंजूर हो जाता है तो अधिक बिजली का इस्तेमाल करने वाले घरेलू उपभोक्ताओं को जहां पांच रुपये प्रति यूनिट तक देने पड़ेंगे, वहीं कम बिजली का इस्तेमाल करने वाले उपभोक्ताओं को केवल दो रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से बिल का भुगतान करना पड़ेगा।

जम्मू पावर डिस्ट्रीब्यूशन कारपोरेशन लिमिटेड (जेपीडीसीएल) ने अपने प्रस्ताव में मीटर वाले क्षेत्रों में प्रति माह 100 से 200 यूनिट तक बिजली खर्च करने वाले उपभोक्ताओं से दो रुपये यूनिट वसूलने का प्रस्ताव दिया है। इससे पहले 100 यूनिट से कम बिजली फूंकने वाले उपभोक्ताओं से 1.69 रुपये प्रति यूनिट, जबकि 101-200 यूनिट प्रति माह इस्तेमाल करने वालों से 2.20 रुपये प्रति यूनिट वसूला जाता था। ऐसे में 200 यूनिट प्रति माह तक बिजली इस्तेमाल करने वालों को बिल में बीस पैसे प्रति यूनिट की राहत दी गई है।

इसके बाद 201-400 यूनिट प्रति माह बिजली इस्तेमाल पर उपभोक्ताओं से चार रुपये प्रति यूनिट वसूलने का प्रस्ताव है, जबकि अब तक उपभोक्ताओं को इसके लिए 3.30 रुपये देने पड़ते थे। 400 यूनिट से ऊपर बिजली इस्तेमाल करने वाले उपभोक्ताओं को पांच रुपये प्रति यूनिट देने होंगे, जो अब तक 3.52 रुपये प्रति यूनिट की दर से भुगतान करते थे। जेपीडीसीएल ने हर माह लगने वाले फिक्स चार्जेज को 5.50 रुपये से बढ़ाकर 15 रुपये प्रति माह करने का प्रस्ताव दिया है।

Edited By: Lokesh Chandra Mishra