Move to Jagran APP

Lok Sabha Election 2024: बारामूला और लद्दाख में थमा चुनाव प्रचार का शोर, 20 मई को मतदान; त्रिकोणीय हुआ मुकाबला

Lok Sabha Election 2024 जम्मू कश्मीर में बारामूला और लद्दाख में चुनाव प्रचार का शोर थम गया है। लद्दाख में भाजपा ने स्टार प्रचारकों के जरिए लोकसभा सीट तीसरी बार जीतने के लिए पूरा जोर लगाया। भाजपा के उम्मीदवार ताशी ग्यालसन के पक्ष में प्रचार के लिए किरण रिजिजू और वीके सिंह पहुंचे थे। चुनाव के लिए प्रशासन व चुनाव आयोग पूरी तैयारियां कर चुका है।

By satnam singh Edited By: Himani Sharma Published: Sat, 18 May 2024 10:12 PM (IST)Updated: Sat, 18 May 2024 10:12 PM (IST)
बारामूला और लद्दाख में थमा चुनाव प्रचार का शोर

राज्य ब्यूरो, जम्मू। Lok Sabha Election 2024: लद्दाख संसदीय सीट (Ladakh Lok Sabha Seat) के लिए 20 मई को होने वाले चुनाव के लिए आज शनिवार शाम को प्रचार थम गया। प्रचार के अंतिम दिन सभी उम्मीदवारों ने जीत के लिए अपनी ताकत झोंकी।

लद्दाख में भाजपा ने स्टार प्रचारकों के जरिए लोकसभा सीट तीसरी बार जीतने के लिए पूरा जोर लगाया। भाजपा के उम्मीदवार ताशी ग्यालसन के पक्ष में प्रचार के लिए किरण रिजिजू और वीके सिंह पहुंचे थे।

कारगिल में डेरा डाले हैं ये नेता

जम्मू कश्मीर से चौधरी विक्रम रंधावा, सत शर्मा, अशोक कौल सहित कुछ और स्थानीय नेता अभी तक लेह व कारगिल में डेरा डाले हुए है। इससे पता चलता है कि भाजपा इस चुनाव को कितनी गंभीरता से ले रही है। वहीं कांग्रेस ने स्थानीय नेताओं के सहारे प्रचार किया। कांग्रेस का राष्ट्रीय स्तर का नेता प्रचार के लिए नहीं पहुंचा। इतना ही नहीं जम्मू कश्मीर से भी कांग्रेस का कोई नेता प्रचार के लिए लद्दाख नहीं गया।

लाद्दाख में कुल इतने मतदाता

लद्दाख में भाजपा के ताशी ग्यालसन, कांग्रेस के सेरिंग नामग्याल और निर्दलीय हाजी हनीफा जान के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। इस लोकसभा क्षेत्र में कुल 1,84,803 मतदाता हैं। चुनाव के लिए प्रशासन व चुनाव आयोग पूरी तैयारियां कर चुका है।

यह भी पढ़ें: Jammu-Kashmir में इस माह हो सकते हैं विधानसभा चुनाव, कश्मीर यात्रा के दौरान अमित शाह ने दिए संकेत

लद्दाख के दुर्गम इलाकों में पहुंचना कोई आसान काम नहीं है लेकिन लोकतंत्र के इस पर्व को कामयाब बनाने के लिए मतदान कर्मियों को हेलिकाप्टर से भी पहुंचाया गया। उन इलाकों में हेलिकाप्टर की सेवाएं ली गई है यहां पर पैदल पहुंचना मुश्किल है। पूरी संसदीय सीट में 577 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

उम्‍मीदवारों ने बैठक कर मांगा समर्थन

प्रचार के अंतिम दिन जनसभाएं व बैठकें कर उम्मीदवारों ने मतदाताओं का समर्थन मांगा। रविवार को उम्मीदवार खुले तौर पर तो प्रचार नहीं कर सकते है लेकिन डोर टू डोर प्रचार करके समर्थन मांगेंगे।

यह भी पढ़ें: पंजाब में किसान आंदोलन के चलते वैष्‍णो देवी में घटी चहल-पहल, पर्यटकों की संख्या में आई भारी गिरावट; 40 ट्रेनें रद

मतदान करवाने के लिए चुनावी सामग्री व पोलिंग पार्टियों को रवाना किया जा चुका है। लद्दाख संसदीय सीट पर भाजपा ने इस बार अपना उम्मीदवार बदला है तो कांग्रेस को नेकां का समर्थन होने के बावजूद गुटबाजी के कारण हाजी हनीफा जान निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव मैदान में हैं।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.