जम्मू, राज्य ब्यूरो। जम्मू-कश्मीर के बडगाम में भाजपा अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) मोर्चा के ज़िला अध्यक्ष अब्दुल हामिद नज़र की मौत हो गई है। कल आतंकवादियों ने उनको गोली मार दी थी। कश्मीर के बदले माहौल से बौखलाए आतंकियों ने रविवार को बड़गाम जिले में भाजपा नेता पर हमला कर उन्हें घायल कर दिया था। उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी। सिक्योरिटी सेंटर से सैर करने निकले ओबीसी प्रकोष्ठ के जिला प्रधान अब्दुल हमीद नजार को बाइक पर सवार आतंकी ने सामने से गोलियां दागीं थी। 

बडगाम के ओमपुरा इलाके में आतंकी हमले में घायल भाजपा नेता अब्दुल हमीद नजार की आज सुबह अस्पताल में मृत्यु हो गई । अभी तक किसी आतंकी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन वारदात में आतंकी संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) या अल बदर मुजाहिदीन का हाथ होने की आशंका है। सुरक्षाबलों ने पूरे क्षेत्र को घेरकर तलाशी अभियान छेड़ रखा है।

बड़गाम के मेहंदीपोरा निवासी अब्दुल हमीद नजार (38) को सुबह करीब छह बजे आतंकियों ने शौर-ए-अफाक होटल में बनाए गए सिक्योरिटी सेंटर से तीन किलोमीटर दूर ओमपोरा क्षेत्र में निशाना बनाया। सैर करने निकले नजार पर मोटरसाइकिल सवार दो में से एक आतंकी ने सामने से गोलियां दागीं। उनके पेट पर चार गोलियां लगी। इसके बाद आतंकी वहां से भाग गए। गोलीबारी के बाद मौके पर पहुंचे स्थानीय निवासियों ने खून से लथपथ नजार को स्थानीय अस्पताल पहुंचाया। वहां से उन्हें श्रीनगर के श्री महराजा हरि सिंह अस्पताल में रेफर किया था, जहां आज उसकी मौत हो गई है। डॉक्टरों के अनुसार, गोलियां पेट में लगी थी। लिवर को नुकसान पहुंचा, हालत नाजुक थी। कुछ देर में सुरक्षाबल भी पहुंच गए।

बताया जाता है कि नजार अकेले ही सैर करते ओमपोरा रेलवे स्टेशन के निकट चले गए। उस समय क्षेत्र में आवाजाही भी कम थी। अकेला देख उनपर आतंकियों ने हमला कर दिया। नजार को काफी समय से आतंकी धमकियां मिल रही थीं। पुलिस ने उन्हें जिले में सिक्योरिटी सेंटर में ठहराया।

डॉ. अनीसा पर भी हमले की हुई थी कोशिश

भाजपा नेता अब्दुल हमीद नजार पर हमला करने से तीन दिन पहले आतंकवादियों ने भाजपा राज्य कार्यकारिणी की सदस्य व महिला मोर्चा की पदाधिकारी डॉ. अनीसा गुल को भी श्रीनगर के छन्नपोरा में निशाना बनाने की कोशिश की थी। बड़गाम की निवासी डॉ. अनीसा भी नजार के साथ शौर-ए-अफाक होटल में बने सिक्योरिटी सेंटर में रह रही है।

डॉ. अनीसा ने बताया कि आतंकी संगठन अल बदर मुजाहीदीन से जान से मारने की धमकी मिलने के बाद उन्हें होटल में ठहराया था। अनीसा ने बताया कि वह छह अगस्त की रात को बुआ के घर पर छन्नपोरा में थी। रात को एक बजे पांच आतंकवादियों ने घर को घेर लिया। बचने के लिए मैंने दूसरी मंजिल पर एक कमरे में छिप कर छन्नपोरा पुलिस थाने में फोन किया। पुलिस की तीन रक्षक गाडि़यां आने के बाद आतंकी भाग निकले थे। पुलिस मुझे वहां से थाने ले गई थी। उसके बाद से मैं अफाक होटल से बाहर नही निकली। अनीस का कहना है कि नजार उनके करीबी हैं। यह हमला भी अल बदर मुजाहीदीन ने करवाया है।

त्यागपत्र दे रहे कार्यकर्ता :

पार्टी सूत्रों के अनुसार, आतंकी हमले के बाद जिले में चार पार्टी कार्यकर्ताओं ने अपने त्यागपत्र जिला प्रधान आगा मोहसिन को भेज दिए हैं। भाजपा जिला प्रधान का कहना है कि इन पार्टी कार्यकर्ताओं को मनाने के लिए कोशिशें की जा रही हैं।

भाजपा से जुड़े लोगों को बना रहे निशाना :

कश्मीर में इस महीने अब तक भाजपा कार्यकर्ताओं पर तीन आतंकी हमले हो चुके हैं। कुलगाम में 5 अगस्त को भाजपा के सरपंच सज्जाद अहमद खांडे की आतंकियों ने हत्या कर दी थी। इससे दो दिन पहले कुलगाम में भाजपा के पंच आरिफ अहमद को गोली मार कर घायल कर दिया था। आठ जुलाई भाजपा के बांदीपोरा जिला अध्यक्ष वसीम बारी की पिता और भाई के साथ हत्या कर दी। जून में आतंकवादियों ने कश्मीर में कांग्रेस के सरपंच अजय पंडिता की भी हत्या कर दी थी।

Edited By: Preeti jha