Move to Jagran APP

Amarnath Yatra 2024: बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए रवाना हुआ श्रद्धालुओं का 14वां जत्‍था, इन मार्गों पर सुरक्षा कड़ी

Amarnath Yatra 2024 अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का 14वां जत्‍था जम्‍मू आधार शिविर से रवाना हुआ। खराब मौसम और आतंकी हमलों के बीच यात्रियों का उत्‍साह बरकरार है। इसी को देखते हुए भारतीय सेना ने भी सुरक्षा कड़ी कर दी है। 52 दिवसीय इस यात्रा में श्रद्धालुओं का अलग ही उत्‍साह देखने को मिलता है। बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए 29 जून को पहला रवाना हुआ था।

By Agency Edited By: Himani Sharma Thu, 11 Jul 2024 12:25 PM (IST)
Amarnath Yatra 2024: बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए रवाना हुआ श्रद्धालुओं का 14वां जत्‍था, इन मार्गों पर सुरक्षा कड़ी
श्रद्धालुओं का जज्‍बा खराब मौसम में भी बरकरार

पीटीआई, जम्मू। Amarnath Yatra 2024: कड़ी सुरक्षा के बीच अमरनाथ यात्रियों का एक और जत्‍था रवाना हुआ। श्रद्धालुओं का जज्‍बा खराब मौसम में भी बरकरार है। 4,800 से अधिक तीर्थयात्री बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए निकले।

अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी। उन्‍होंने बताया कि तीर्थयात्रियों का 14वां जत्था 191 वाहनों में बालटाल और पलागाम के जुड़वां आधार शिविरों के लिए सुबह 3.06 बजे रवाना हुआ और सीआरपीएफ सुरक्षा द्वारा उनका बचाव किया गया।

आतंकी हमलों के बाद सुरक्षा हुई कड़ी

आतंकी हमलों के बाद भगवती नगर आधार शिविर और उसके आसपास और यात्रा मार्ग पर सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है। अधिकारियों ने बताया कि जत्थे में 2,366 पुरुष, 1,086 महिलाएं, 32 बच्चे और 163 'साधु' और 'साध्वियां' भगवती नगर आधार शिविर से बसों और हल्के मोटर वाहनों के काफिले में रवाना हुए।

यह भी पढ़ें: Amarnath Yatra 2024: बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए 11वां जत्था रवाना, अब तक दो लाख से अधिक श्रद्धालु टेक चुके हैं मत्था

अधिकारियों ने कहा कि 2,991 तीर्थयात्रियों ने अपनी यात्रा के लिए पारंपरिक 48 किलोमीटर लंबे पहलगाम मार्ग को चुना। वहीं 1,894 अन्य ने छोटे लेकिन 14 किलोमीटर लंबे कठिन बालटाल मार्ग को चुना।

29 जून को रवाना हुआ था पहला जत्‍था

इसके साथ ही 28 जून को जब उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने पहले जत्थे को हरी झंडी दिखाई थी, तब से अब तक कुल 77,210 तीर्थयात्री जम्मू आधार शिविर से घाटी के लिए रवाना हो चुके हैं। 52 दिवसीय यात्रा 29 जून से शुरू हुई और 19 अगस्त को समाप्त होगी। पिछले साल 4.5 लाख से अधिक तीर्थयात्रियों ने गुफा मंदिर में दर्शन किए।

यह भी पढ़ें: Amarnath Yatra 2024: आज से शुरू हुई अमरनाथ यात्रा, जानें इससे जुड़े नियम और अन्य जानकारी

अधिकारियों ने बताया कि खतरे की आशंका के मद्देनजर जम्मू में बेसकैंप, आवास केंद्रों, लखनपुर में आगमन केंद्र और राजमार्ग पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। उन्होंने बताया कि राजमार्ग पर क्षेत्रीय नियंत्रण मजबूत कर दिया गया है और यात्रा स्थलों के आसपास वाहनों की जांच और लोगों की तलाशी तेज कर दी गई है।