Move to Jagran APP

नशीली दवा मामला: बायोजेनेटिक ड्रग कंपनी का लाइसेंस स्थायी रूप से रद, रिकॉर्ड नहीं देने पर राज्य दवा नियंत्रक की बड़ी कार्रवाई

राज्य दवा नियंत्रक ने बायोजेनेटिक ड्रग लिमिटेड उद्योग का लाइसेंस स्थायी रूप से रद कर दिया है। 16 मई तक जानकारी उपलब्ध करवाने को कहा था लेकिन उद्योग के अधिकारी यह रिकार्ड उपलब्ध नहीं करवा पाए। इसके बाद यह कार्रवाई की है। बद्दी के थाणा स्थित स्माइलैक्स फार्माकैम झाड़माजरी स्थित बायोजेनेटिक ड्रग लिमिटेड व स्माइलैक्स हेल्थ केयर उद्योगों की अब राज्य दवा नियंत्रक कार्यालय की टीमें जांच कर रही हैं।

By Jagran News Edited By: Jeet Kumar Fri, 17 May 2024 06:00 AM (IST)
बायोजेनेटिक ड्रग कंपनी का लाइसेंस स्थायी रूप से रद

जागरण संवाददाता, सोलन। बद्दी के थाणा स्थित स्माइलैक्स फार्माकैम उद्योग के बाद झाड़माजरी स्थित बायोजेनेटिक ड्रग लिमिटेड उद्योग का लाइसेंस स्थायी रूप से रद कर दिया है। नशीली दवाओं के कारोबार में संलिप्तता की जानकारी मिलने के बाद राज्य दवा नियंत्रक कार्यालय ने बायोजेनेटिक ड्रग उद्योग को दवाओं से संबंधित रिकार्ड उपलब्ध करवाने का नोटिस जारी किया था।

16 मई तक जानकारी उपलब्ध करवाने को कहा था, लेकिन उद्योग के अधिकारी यह रिकार्ड उपलब्ध नहीं करवा पाए। इसके बाद यह कार्रवाई की है। बद्दी के थाणा स्थित स्माइलैक्स फार्माकैम, झाड़माजरी स्थित बायोजेनेटिक ड्रग लिमिटेड व स्माइलैक्स हेल्थ केयर उद्योगों की अब राज्य दवा नियंत्रक कार्यालय की टीमें जांच कर रही हैं।

स्माइलैक्स फार्माकैम व बायोजेनेटिक ड्रग लिमिटेड उद्योगों में नशीली दवा मामले में पंजाब की नारकोटिक्स सेल की टीम व स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने जांच की थी। स्माइलैक्स समूह के तीन शेयर होल्डर व मैनेजर फिलहाल फरार हैं।

कब क्या हुआ

नौ मई को पंजाब की नारकोटिक्स व एसटीएफ ने स्माइलैक्स फार्माकैम में दबिश दी थी और ट्रामाडोल नारकोटिक्स ड्रग की दवाओं की छानबीन की थी। टीम ने 10 मई को उद्योग से 70.42 लाख गोलियां जब्त कीं और 725 किलो नशीला पाउडर जब्त किया था।

छानबीन में पता चला कि इस उद्योग के मालिक के दो और उद्योग हिमाचल में हैं। 12 मई को बायोजेनेटिक्स उद्योग से 1.98 करोड़ एल्प्राजोलम की गोलियां जब्त कीं। हिमाचल राज्य दवा नियंत्रक कार्यालय की टीम ने तीसरे उद्योग स्माइलैक्स हेल्थकेयर से 400 किलो कोडिन को जब्त किया था।

स्माइलैक्स ग्रुप के दो उद्योगों के सभी नारकोटिक्स संबंधित लाइसेंस को स्थायी रूप से रद कर दिया गया है। सामान्य दवाएं बनाने वाले लाइसेंस अभी जांच के अधीन हैं। तीनों उद्योगों में फिलहाल दवा उत्पादन बंद है। उद्योगों में हमारी तीन टीमें जांच में जुटी हैं। - मनीष कपूर, राज्य दवा नियंत्रक