शिमला, राज्य ब्यूरो। प्रदेश में कुछ क्षेत्रों पर बारिश व चोटियों पर हिमपात से तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है। प्रदेश के चार स्थानों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से नीचे पहुंच गया है। इनमें कल्पा में 5.4 डिग्री सेल्सियस, केलंग तीन, मनाली 6.4 व कुफरी में न्यूनतम तापमान 9.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। वहीं, रोहतांग सहित लाहुल घाटी की चोटियों पर वीरवार को फिर बर्फबारी का क्रम शुरू हो गया है।

बारालाचा दर्रे में अभी तक चार इंच, शिंकुला में पांच व रोहतांग सहित कुंजम दर्रे में तीन इंच बर्फ गिर चुकी है। रोहतांग दर्रे में दो इंच हिमपात हुआ है। बारालाचा व शिंकुला दर्रे रोहतांग जोत व कुंजम दर्रे में वाहनों की आवाजाही फिलहाल सुचारू है, लेकिन बर्फबारी गिरने दौर जारी रहा तो सभी दर्रे वाहनों के लिए बंद हो सकते हैं।

मंडी जिले के पद्धर उपमंडल की चौहारघाटी के बरोट व छोटा भंगाल क्षेत्र में वीरवार दोपहर करीब दो बजे अचानक मौसम खराब होने के बाद बारिश का दौर शुरू हुआ व 15 मिनट बाद ओलावृष्टि ने फसलों को खूब नुकसान पहुंचाया। ओले गिरने से जमीन में सफेद चादर बिछ गई। ओलावृष्टि से चौहारघाटी में मटर, हरा धनिया व फूलगोभी की फसल को भारी नुकसान हुआ है। 

मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह का कहना है कि शुक्रवार को प्रदेश के निचले व मध्यम क्षेत्रों में बारिश की संभावना व्यक्त की है। अत्यधिक ऊंचाई वाले किन्नौर व लाहुल-स्पीति में हिमपात हो सकता है। पश्चिमी हवा अब इरान व अफगानिस्तान के पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। इसका असर प्रदेश में दिख सकता है। 23 अक्टूबर तक मौसम शुष्क बना रहेगा। राज्य के सभी हिस्सों में न्यूनतम तापमान में गिरावट का क्रम जारी है। पश्चिमी विक्षोभ नजदीक आया है। 

बर्फबारी के बावजूद मनाली-लेह मार्ग पर सेना केवाहनों के काफिले के लिए वाहनों की आवाजाही सुचारू  है। जब तक भारी बर्फबारी नहीं होती वाहनों की आवाजाही सुचारू रखने की कोशिश की जाएगी। बीआरओ मनाली-लेह के दारचा व आसपास क्षेत्र में सड़क का निर्माण हो रहा है। 

 हिमाचल की अन्य खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें 

हिंदुत्‍व के प्रमाण पर शांता कुमार ने क्‍यों की भावुक टिप्‍पणी, जानिए पूरा मामला

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप