शिमला, जागरण संवाददाता। प्रदेश के शिक्षण संस्थानों में महिलाओं के साथ यौन अपराध पर राष्ट्रीय महिला आयोग सख्त हो गया है। आयोग की राष्ट्रीय अध्यक्ष रेखा शर्मा की ओर से इस संबंध में प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया है। 

केंद्र से आए पत्र के बाद शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक डा. अथीश कुमार मिश्रा की तरफ से सभी कालेज और स्कूल प्रधानाचार्यों को पत्र जारी किया है। इसमें कहा गया है कि शिक्षण संस्थानों में यौन उत्पीड़न जैसी घटनाएं सामने न आएं, इसके लिए पहले से सख्त कदम उठाए जाएं।

यह भी पढ़ें-Lahaul Avalanche: लाहुल के यनिगंग ग्लेशियर में हिमस्खलन, नवंबर में एवलांच से चिंतित लोग, देखिए वीडियो

आयोग ने निर्देश जिलास्तर पर बने समितियां

राष्ट्रीय महिला आयोग ने निर्देश दिया है कि शिक्षण स्थानों में यौन उत्पीड़न की शिकायतें प्राप्त करने के लिए जिलास्तर पर समितियां बनाई जाएं। संस्थानों में छात्राओं की सुरक्षा भी देखी जाए।

यह भी पढ़ें-Una: डॉक्टर की शिकायत पर फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाने वाली महिला के खिलाफ केस दर्ज, अब तक 69 लोगों को फंसा चुकी

कोचिंग संस्थानों में भी महिलाओं से यौन उत्पीड़न

पत्र में शिक्षण संस्थानों में ऐसे मामलों को रोकने के लिए सभी निवारक उपाय करने को कहा है। इसके अलावा कोचिंग संस्थानों व अन्य कार्यस्थलों में भी महिलाओं के यौन उत्पीड़न अधिनियम, 2013 के सख्त कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने को कहा है।

यह भी  पढ़ें-Himachal: सुरक्षित यातायात के लिए चालान ही नहीं समाधान, मंडलायुक्‍त अक्षय सूद ने बताया कैसे रोकें हादसे

Edited By: Jagran News Network

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट