Move to Jagran APP

Modi Cabinet 3.0: मोदी सरकार में जेपी नड्डा को मिला ये अहम मंत्रालय, जानिए कौन सा पद संभालेंगे पूर्व BJP अध्यक्ष

Modi Cabinet 3.0 भाजपा के पूर्व अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा को स्वास्थ्य मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। बीते रविवार नड्डा ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली थी। जेपी नड्डा ने 9 नवंबर साल 2014 से 30 मई 2019 तक भाजपा कार्यकाल में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के रूप में काम किया। नड्डा ने पहली बार हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर से चुनाव जीता था।

By Jagran News Edited By: Prince Sharma Published: Mon, 10 Jun 2024 07:34 PM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 07:34 PM (IST)
Modi Cabinet 3.0: मोदी सरकार में जेपी नड्डा को मिला ये अहम मंत्रालय

डिजिटल डेस्क, शिमला। नई दिल्ली में आज कैबिनेट मंत्रियों को मंत्रालय वितरित किए गए हैं। भाजपा पूर्व अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा को स्वास्थ्य मंत्रालय (JP Nadda Get Health Minister) सौंपा गया है। बीते रविवार नड्डा ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली थी।

जेपी नड्डा ने 9 नवंबर साल 2014 से 30 मई 2019 तक भाजपा कार्यकाल में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के रूप में काम किया। इसके बाद जब भारतीय जनता पार्टी को नए अध्यक्ष की आवश्यकता हुई तो यह जिम्मेदारी उन्हें दी गई।

जेपी नड्डा पेशे से वकील भी रहे हैं। वह साल 2020 से भाजपा के अध्यक्ष पद पर कार्यरत रहे। नड्डा जून 2019 से जनवरी 2020 तक भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष भी रहे। नड्डा भाजपा के संसदीय बोर्ड सचिव भी रह चुके हैं। 

बिलासपुर से रहे हैं विधायक

भाजपा नेता जेपी नड्डा का हिमाचल से पुराना नाता है। नड्डा ने पहली बार हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर से चुनाव जीता था। 1993 में उन्‍होंने बिलासपुर विधानसभा चुनाव से लड़ा और जीता भी। साल 2010 में नितिन गडकरी ने नड्डा को अपने नेतृत्व में भाजपा का राष्ट्रीय महासचिव बनाया।

जेपी नड्डा मूलरूप से हिमाचल के बिलासपुर के रहने वाले हैं। हालांकि, नड्डा का जन्म पटना में हुआ। सेंट जेवियर स्कूल पटना से वह पढ़े-लिखे और पटना कॉलेज से उन्होंने ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की। नड्डा एबीवीपी से भी जुड़े रहे। छात्र जीवन में उन्होंने कई आंदोलनों में हिस्सा लिया। उनके पिता नारायण लाल नड्डा पटना विश्वविद्यालय में प्रोफेसर थे। बाद में रांची विश्वविद्यालय के वाइस चा बने। 

बीए के बाद हिमाचल आए

पटना से बीए की पढ़ाई के बाद वह हिमाचल आए। हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला से कानून की पढ़ाई की। सन् 1984 में हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में एबीवीपी पहली बार एससीए का चुनाव लड़े व अध्यक्ष जीते। सन् 1986 से 89 तक एबीवीपी के राष्ट्रीय महासचिव रहे। नड्डा 31 साल की उम्र में 1991 में भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए गए। यहीं से नड्डा का राष्ट्रीय राजनीति में प्रवेश हुआ।

यह भी पढ़ें- Ration Card In Himachal: नहीं बना राशन कार्ड तो ना लें टेंशन, इस तरीके को अपनाकर फटाफट कर दें आवेद


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.