जागरण संवाददाता, शिमला : प्रदेश में धर्मांतरण, गो तस्करी, लव व लैंड जिहाद के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। प्रशासन के समक्ष मामले लाने पर भी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। यह आरोप विश्व हिदू परिषद के प्रदेशाध्यक्ष लेखराज राणा ने पत्रकारों से बातचीत में लगाए हैं।

उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में कई स्थानों पर सरकारी भूमि पर कब्जे कर मस्जिदें बनाई जा रही हैं। पैसों का लालच देकर या अन्य तरह की मजबूरी का फायदा उठाकर धर्म परिवर्तन करवाया जा रहा है। प्रदेश सरकार ने धर्म परिवर्तन के मसले पर 2019 में कानून भी लाया। इसके बावजूद प्रशासन इसे सख्ती से लागू करने में गंभीरता नहीं दिखा रहा है। ऐसे कामों को रोकने के लिए विहिप के सदस्य जा रहे हैं वहां उनके खिलाफ मामले दर्ज किए जा रहे हैं। आरोप है कि लॉकडाउन के दौरान शिमला में लव जिहाद के दो मामले आए थे। इन पर प्रशासन की ओर से कार्रवाई नहीं की गई। सभी मामलों पर 29 सितंबर से पांच अक्टूबर तक एसडीएम, डीसी व एसपी के माध्यम से सरकार को ज्ञापन भेजा जाएगा। प्रदेशभर में यह मुहिम चलेगी। उन्होंने आरोप लगाया कि शिमला में महिला को गुमराह कर मुस्लिम युवक ने शादी का झांसा देकर जबरदस्ती की। रोजे रखवाए। इसका विरोध करने पर उसके साथ मारपीट की। विहिप ने पुलिस के समक्ष मामला उठाया लेकिन आरोपितों को गिरफ्तार नहीं किया। इस मौके पर अमन पूरी, नीरज दौनेरिया, तुषार डोगरा, अनिल ठाकुर, आशुतोष अग्रवाल, अमर वर्मा, रवि शर्मा, सुरक्षा शर्मा आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट