Move to Jagran APP

खुशखबरी! ओलंपिक व पैरालंपिक खिलाड़ियों को पदक जीतने पर मिलेंगे पांच करोड़ रुपये, सुक्खू सरकार ने लिया बड़ा फैसला

अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक विजेताओं के लिए हिमाचल प्रदेश के सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू ने बड़ी घोषणा कर दी है। राज्य सरकार ने पदक विजेताओं के लिए पुरस्कार को बढ़ावा दिया है। अब ओलंपिक शीतकालीन ओलंपिक तथा पैरालंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले को पांच करोड़ रुपये मिलेंगे। वहीं सिल्वर और कांस्य पदक विजेताओं को भी करोड़ों के इनाम मिलेंगे।

By Yadvinder Sharma Edited By: Deepak Saxena Sat, 08 Jun 2024 08:17 PM (IST)
ओलंपिक व पैरालंपिक खिलाड़ियों के लिए CM सुक्खू का तोहफा।

राज्य ब्यूरो, शिमला। अन्तरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक विजेताओं के लिए पुरस्कार राशि में उल्लेखनीय वृद्धि की है। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि राज्य सरकार ने ओलंपिक, शीतकालीन ओलंपिक तथा पैरालंपिक प्रतियोगिताओं में स्वर्ण पदक विजेताओं के लिए पुरस्कार राशि 3 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 5 करोड़ रुपये कर दी है।

पुरस्कार राशि में की गई बढ़ोतरी

इसी प्रकार रजत पदक विजेताओं को अब दो करोड़ रुपये के स्थान पर तीन करोड़ रुपये तथा कांस्य पदक विजेताओं को एक करोड़ रुपये के स्थान पर दो करोड़ रुपये दिए जाएंगे। एशियाई खेलों तथा पैरा एशियाई खेलों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों के लिए स्वर्ण पदक विजेताओं की पुरस्कार राशि 50 लाख रुपये से बढ़ाकर 4 करोड़ रुपये कर दी है। रजत पदक विजेताओं को अब 30 लाख रुपये के स्थान पर 2.50 करोड़ रुपये तथा कांस्य पदक विजेताओं को 20 लाख रुपये के स्थान पर 1.50 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

ये भी पढ़ें: Himachal News: हार के बाद मंथन में जुटे विक्रमादित्य, हर जोन में जाकर खुद करेंगे बैठक; बोले- जो बीत गया सो बीत गया...

राष्ट्रमंडल खिलाड़ियों को भी मिलेगा लाभ

मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्र मंडल खेलों तथा पैरा राष्ट्र मंडल खेलों में गौरव हासिल करने वाले खिलाड़ियों को भी संशोधित पुरस्कार योजना का लाभ मिलेगा। स्वर्ण पदक विजेताओं को 50 लाख रुपये के स्थान पर 3 करोड़ रुपये, रजत पदक विजेताओं को 30 लाख रुपये के स्थान पर 2 करोड़ रुपये और कांस्य पदक विजेताओं को 20 लाख रुपये की जगह 1 करोड़ रुपये की पुरस्कार राशि दी जाएगी।

नई खेल नीति का उद्देश्य खेल उत्कृष्टता को बढ़ावा देना

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की नई खेल नीति का उद्देश्य खेल उत्कृष्टता को बढ़ावा देना और प्रोत्साहित करना है। पुरस्कार राशि में यह वृद्धि राज्य सरकार की खेलों को बढ़ावा देने और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर राज्य का प्रतिनिधित्व करने वाले खिलाड़ियों की कड़ी मेहनत को प्रोत्साहित करने की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। इस पहल से न केवल खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ेगा बल्कि खेलों में उत्कृष्टता हासिल करने के लिए प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को और अधिक अवसर प्राप्त होंगे जो राज्य में खेलों के समग्र विकास में योगदान देगा।

ये भी पढ़ें: Himachal Fire News: हिमाचल में तीन मंजिला मकान में लगी भीषण आग, लाखों का सामान जलकर हुआ राख; ऐसे हुआ हादसा