Move to Jagran APP

स्‍वजनों ने 15 साल की नाबालिग की करवा दी शादी, एक साल बाद की गई रेस्‍क्‍यू, लगातार गिर रही थी सेहत

Minor Girl Marriage जिला मंडी के द्रंग हलके में बाल विवाह के मामले थम नहीं रहे हैं। चौहारघाटी में स्वजनों ने 15 साल की बेटी की शादी रचा दी। शिकायत मिलने पर चाइल्डलाइन ने नाबालिग को शनिवार को रेस्क्यू कर उसे बाल संरक्षण समिति (सीडब्ल्यूसी) के समक्ष पेश किया।

By Rajesh Kumar SharmaEdited By: Sun, 25 Jul 2021 08:49 AM (IST)
स्‍वजनों ने 15 साल की नाबालिग की करवा दी शादी, एक साल बाद की गई रेस्‍क्‍यू, लगातार गिर रही थी सेहत
द्रंग हलके में बाल विवाह के मामले थम नहीं रहे हैं।

मंडी, जागरण संवाददाता। Minor Girl Marriage, जिला मंडी के द्रंग हलके में बाल विवाह के मामले थम नहीं रहे हैं। चौहारघाटी में स्वजनों ने 15 साल की बेटी की शादी रचा दी। शिकायत मिलने पर चाइल्डलाइन ने नाबालिग को शनिवार को रेस्क्यू कर उसे बाल संरक्षण समिति (सीडब्ल्यूसी) के समक्ष पेश किया। नाबालिग के बयान दर्ज करने के बाद सीडब्ल्यूसी ने उसे वन स्टाप सेंटर में आश्रय दिया है और द्रंग पुलिस से आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज करने की सिफारिश की है। द्रंग हलके में नाबालिग लड़कियों की शादियां करने का कुछ माह में यह पांचवां मामला है।

स्वजनों ने नाबालिग की शादी करीब एक साल पहले की थी। अभी तक उसका पंचायत, स्वास्थ्य विभाग व आंगनबाड़ी में पंजीकरण नहीं करवाया गया है। पुलिस, पंचायत प्रतिनिधियों व महिला एवं बाल विकास की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिह्न लग गया है।

शादी के बाद नाबालिग की सेहत लगातार गिर रही थी। उसे उचित पोषाहार नहीं मिला। उसके गिरते स्वास्थ्य को देख किसी व्यक्ति ने चाइल्डलाइन को इसके बारे में अगवत करवाया। चाइल्डलाइन की टीम नाबालिग के ससुराल में पहुंची। वहां स्कूल प्रमाणपत्र में उसकी जन्मतिथि की जांच की गई। उसके नाबालिग होने की पुष्टि होने के बाद चाइल्डलाइन ने उसे रेस्क्यू कर लिया।

रेस्‍क्‍यू की नाबालिग

बाल संरक्षण समिति के चेयरमैन डीसी ठाकुर का कहना है चाइल्ड लाइन ने एक नाबालिग को द्रंग हलके से रेस्क्यू किया है। उसकी शादी करीब एक साल पहले हुई है और उसकी उम्र 16 साल हैै। उसे वन स्टाप सेंटर भेज में आश्रय दिया गया है।

चाइल्ड लाइन ने भीख मांगते तीन बच्‍चे रेस्क्यू किए

मंडी। चाइल्ड लाइन मंडी की टीम ने बल्ह घाटी के नेरचौक व डडौर में शनिवार को दो बालिकाओं व एक बालक को भीख मांगते हुए रेस्क्यू कर बाल संरक्षण समिति के समक्ष पेश किया। चाइल्ड लाइन मंडी अब निर्देश मिलने पर इन ब'चों के माता पिता को समिति के समक्ष पेश करेगी। समिति ने दो बालिकाओं को वन स्टाप सेंटर तथा एक बालक को ओपन शेल्टर होम में आश्रय दिया है। चाइल्ड लाइन मंडी के समन्वयक अच्‍छर सिंह ने बताया कि जल्दी ब'चों के माता पिता को समिति के समक्ष पेश कर दिया जाएगा। गौर हो कि जिला के सुंदरनगर, नौलखा, डडौर, तथा नेरचौक में कई ब'चे भीख मांगते हुए देखे जा सकते हैं।