धर्मशाला, जागरण संवाददाता। NPS Employees Association, नई पेंशन स्कीम कर्मचारी एसोसिएशन के कांगड़ा जिला प्रधान राजिंदर मन्हास ने सरकार से आग्रह किया है कि कोविड ड्यूटी में लगाए गए 18 से 44 साल के कर्मचारियों को सरकार वैक्सीन लगा कर ही ड्यूटी पर भेजे। जिला प्रधान ने कहा पिछले  कुछ दिनों से उन्हें लगातार कर्मचारियों के फोन आ रहे हैं कि इस मांग को सरकार के सामने रखा जाए, क्योंकि पिछले 10 दिनों में 15 कर्मचारियों की कोरोना से मौत हुई है। जिसमें अधिकतर 45 साल से कम उम्र के थे। ऐसे में कर्मचारी खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

उन्होंने सरकार से 2009 की केंद्र की अधिसूचना की भी मांग करते हुए कहा कि समय की नजाकत को देखते हुए सरकार को यह अधिसूचना तत्काल प्रभाव से लागू कर देनी चाहिए। क्योंकि इस अधिसूचना के तहत सेवा के दौरान कर्मचारी की मौत पर एनपीएस कर्मचारी के परिवार को परिवारिक पेंशन का प्रावधान है।

जिला प्रधान ने कहा सरकारी कर्मचारी सरकार के हर आदेश का पालन बड़ी मुस्तैदी से कर रहे हैं और वैक्सीन, कोविड एंट्री से लेकर कोविड मरीजों की मॉनीटरिंग जैसे कई कार्य कर रहे हैं, जिसमें उनके संक्रमित होने का खतरा बना रहता है। ऐसे में सरकार का भी फर्ज बनता है कि अपने कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठाएं।

यह भी पढ़ें: कोरोना महामारी के बीच अंबुजा सीमेंट कंपनी ने द‍िए 350 ऑक्‍सीजन सिलेंडर, रोजाना 10 टन उत्पादन संभव

यह भी पढ़ें: Himachal Covid Cases Update: कोरोना संक्रमण के एक्‍ट‍िव केस 31 हजार के पार, इन जिलों में बिगड़ रहे हालात

यह भी पढ़ें: हर कोरोना संक्रमित मरीज को रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाना जरूरी नहीं, जानिए क्‍या कहते हैं विशेषज्ञ

यह भी पढ़ें: कोरोना से बिगड़े हालात के बाद कांगड़ा सहित चार जिलों में बढ़ाई सख्‍ती, जान‍िए सरकार के नए दिशा निर्देश