काजा, जागरण संवाददाता। India China Border Road, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि चीन सीमा पर तैनात भारतीय सेना को और सशक्त बनाने के लिए सीमा सड़क संगठन 260 किलोमीटर लंबे ग्रांफू काजा समदो मार्ग को 840 करोड़ से डबललेन बनाने जा रहा है। इसके लिए केंद्र सरकार से धन स्वीकृत हो गया है और बीआरओ ने टेंडर प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। जयराम ठाकुर आज काजा में राष्ट्रीय महिला आइस हाकी प्रतियोगिता का शुभारंभ करने के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा सीमावर्ती क्षेत्रों को मजबूत करने में केंद्र सरकार बेहतर प्रयास कर रही है।

उन्होंने ग्रांफू काजा समदो सड़क को 840 करोड़ धन स्वीकृत करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का आभार जताया। सीएम ने कहा इस समय मनाली से काजा पहुंचने में 12 घंटे का समय लगता है। लेकिन सड़क के डबललेन बन जाने से मात्र आठ घंटे के भीतर मनाली से काजा पहुंच सकेंगे। इससे भारतीय सेना को चीन सीमा के साथ सटे समदो बार्डर तक पहुंचना आसान हो जाएगा।

वहीं देश विदेश से भारी संख्या में पर्यटक स्पीति घाटी के दीदार को आएंगे। उन्होंने कहा केंद्र सरकार सीमावर्ती क्षेत्रों तक सेना की पहुंच आसान बना रही है। केंद्र सरकार ने सुरंगों का जल्द निर्माण करने को हाल ही में  बीआरओ की "योजक" परियोजना की नींव रखी है। हिमाचल सरकार भी सीमावर्ती क्षेत्रों के लोगों को बेहतरीन सुविधाएं देने को प्रयासरत है।

राष्ट्रीय आइस हाकी प्रतियोगिता के आयोजन की बधाई देते हुए सीएम ने कहा प्रदेश सरकार खेलों को बढ़ावा देने को प्रयासरत है। हिमाचल के लिए गर्व की बात है कि प्रदेश के भीतर पहली राष्ट्रीय आइस हाकी प्रतियोगिता हो रही है। सीएम ने कहा माइनस तापमान में लेह लद्दाख व लाहुल स्पीति सहित तेलंगाना, चंडीगढ़ व दिल्ली की खिलाड़ियों का मनोबल हैरान करने वाला है। सभी में भारी उत्साह देखने को मिल रहा है। प्रदेश सरकार का प्रयास रहेगा कि लाहुल स्पीति में आने वाले समय में अंतरराष्ट्रीय आइस हाकी प्रतियोगिता आयोजित हो सके।

उन्होंने कहा हिमाचल कोविड टीकाकरण में सबसे आगे चल रहा है। 15 से 18 साल के बच्चों को लगाई जा रही वैक्सीन में भी प्रदेश आगे है। उन्होंने कहा प्रदेश के जनजातीय क्षेत्र टीकाकरण में सबसे आगे चल रहे हैं। उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि देशभर से काजा में आए सभी खिलाड़ी कोरोना के नियमों का पालन कर रहे हैं। उन्होंने सभी खिलाड़ियों को खेल की भावना से अच्छा खेलने को प्रेरित किया।

हिमाचल के इतिहास में जनवरी महीने में काजा आने वाला पहला सीएम बना हूं। उन्होंने काजा स्कूल की लड़कियों को कार्यक्रम प्रस्तुत करने पर 30 हजार की राशि देने की घोषणा की। इससे पहले काजा पहुंचने पर तकनीकी शिक्षा मंत्री डाक्‍टर रामलाल मार्कंडेय ने मुख्यमंत्री का पारंपरिक स्वागत किया और प्रतियोगिता की शोभा बढ़ाने पर सीएम का आभार जताया।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma