शिमला, यादवेन्द्र शर्मा। हिमाचल प्रदेश ने एक्टिव मामलों की प्रतिशतता में दिल्ली को पीछे छोड़ दिया है। हिमाचल प्रदेश में एक्टिव मामलों की प्रतिशतता दिल्ली से दोगुणा से भी अधिक पहुंच गई है। हिमाचल में एक्टिव मामलों की प्रतिशतता 19.83 हाे गई है और दिल्ली में एक्टिव मामलों की प्रतिशतता 8.23 है। प्रदेश में डेढ माह के दौरान कोरोना ने ऐसी रफ्तार पकड़ी है कि 15 मार्च से 21 मार्च तक 1003 नए मामले आए और 12 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई। जबकि बीते सप्ताह 26 अप्रैल से 2 मई के दौरान 25298 नए मामले आए हैं और 206 की मौत हुई है।

ऐसे में कोरोना की रफ्तार के बढ़ने के बाद किसी भी तरह की लापरवाही बरतना जिंदगी से खिलवाड़ करना है। इस बात को लोगों ने महसूस कर दिया है और इसी कारण बाजारों और सड़कों में कम लोग नजर आ रहे हैं। कोरोना से बचाव को मास्क के साथ दो गज दूरी जरुरी है। अन्य राज्यों में आक्सीजन की कमी है लेकिन प्रदेश में आक्सीजन के भंडारण को बढ़ाया जा रहा है। 70 हजार मीट्रिक टन तक आक्सीजन की भंडारण क्षमता को बढ़ाया गया है।

प्रदेश में 15 मार्च से 2 मई तक कह काेरोना को लेकर स्थिति

  • कब से कब तक,नए मामले,स्वस्थ,मृत्यु,एक्टिव मामले
  • 15 से 21 मार्च,1003,490,12,1256
  • 22 से 28 मार्च,1982,739,18,2478
  • 29 मार्च से 04 अप्रैल,2584,1442,35,3577
  • 05 से 11 अप्रैल,4444,2490,45,5369
  • 12 से 18 अप्रैल,6689,3289,75,8696,
  • 19 से 25 अप्रैल 11126,6077,145,13577
  • 26 अप्रैल से 2 मई,25298,8674,206,20727
  • कुल,53126,23201,536,20727

बहुत अधिक मामले बढ़ने पर ये सख्त कदम उठाए

  • शादी व अन्य समारोह में बीस से अधिक लोगों के शामिल होने पर रोक
  • सार्वजनिक धाम पर पूरी तरह से प्रतिबंध
  • कार्यालयों में पांच दिनों तक कार्य करने और 50 फीसदी कर्मचारियों को बुलाने के निर्देश
  • बसों में 50 फीसद क्ष्रमता के साथ बैठेंगे यात्री
  • शिक्षण संस्थानों को 10 मई तक बंद रखने का निर्देश
  • शनिवार व रविवार को आवश्यक वस्तुओं को छोड़ बाकी बाजार बंद

प्रदेश में 20 फीसदी से अधिक लोगों की हुई वैक्सीनेशन

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का कहना है प्रदेश में बीस फीसद से अधिक लोगों की वैक्सीनेशन हो गई है। 45 वर्ष से अधिक आयु वालों के लिए वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। सीरम कंपनी ने जल्द ही वैक्सीन उपलब्ध करवाने के लिए कहा है वैक्सीन के आते ही अठारह वर्ष से अधिक आयु वालों को वैक्सीन लगानी शुरु कर देंगे। प्रदेश में अभी तक अठारह लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन लगा दी है। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए बंदिशे लगाई जा रही हैं। नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है। प्रदेश में आक्सीजन की कोई कमी नहीं है और मामलों के बढ़ने के साथ बिस्तरों की संख्या को बढ़ाया गया है।