धर्मशाला, जागरण संवाददाता। Himachal School Open, कोरोना संकट के कारण डेढ़ साल के लंबे अंतराल के बाद आज पांच कक्षाओं के विद्यार्थी स्कूल पहुंचे। आज से आठवीं से जमा दो कक्षाओं तक के विद्यार्थियों की नियमित कक्षाएं शुरू हुईं। आठवीं, नौवीं, दसवीं, ग्यारहवीं व बारहवीं के विद्यार्थी स्कूल पहुंचे। पांच कक्षाओं के विद्यार्थियों का स्कूल पहुंचने के बाद फिर से स्कूलों में बहार लौट आई है। खैर अन्य चार कक्षाओं के विद्यार्थी तो 27 सितंबर से ही स्कूल आ रहे थे, लेकिन आठवीं कक्षा के विद्यार्थी पहली बार स्कूल पहुंचे। स्कूलों ने अपने अपने स्तर पर सिटिंग प्लान तैयार किया है।

स्कूलों में परीक्षा हाल व बड़े कमरों में विद्यार्थियों के बैठने की व्यवस्था की गई है। वहीं कुछेक स्कूलों में शिफ्टों में विद्यार्थियों बुलाया गया है। हालांकि इस दौरान स्कूलों में एसओपी का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। स्कूलों में प्रार्थना सभा पर पूरी तरह से रोक है। स्कूलों को कोविड-19 नियमों का सख्ती से पालन करने के निर्देश हैं। आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए स्कूल में मिड-डे मील नहीं बनेगा, न ही परोसा जाएगा। इसके साथ ही सर्दी जुकाम वाले छात्रों को स्कूल आने पर पूरी तरह से पाबंदी होगी। आठवीं कक्षा के विद्यार्थी करीब डेढ़ साल बाद स्कूल पहुंच कर काफी उत्साहित हैं।

आफलाइन नियमित कक्षाओं का होगा लाभ 

विद्यार्थियों की आनलाइन कक्षाओं के बजाय आफलाइन कक्षाओं का विद्यार्थियों को लाभ होगा। विद्यार्थी लंबे समय से स्कूल खुलने का इंतजार कर रहे थे। घर में भी विद्यार्थी मानसिक तनाव महसूस कर रहे थे। आनलाइन कक्षाओं में वह मजा विद्यार्थियों व अध्यापकों को नहीं आ रहा था जो आफलाइन कक्षाओं में है। इसलिए आज से पांच कक्षाओं के लिए नियमित कक्षाएं शुरू होते ही स्कूलों में बहार लौट आई है। सभी यही प्रार्थना कर रहे हैं कि अब कोविड-19 महामारी का पूर्ण रूप से अंत हो और आम जनजीवन फिर से पूरी तरह से सामान्य हो जाए।

डाडासीबा स्‍कूल में बच्‍चे उत्‍साहित

डाडासीबा स्‍कूल के प्रधानाचार्य डाक्‍टर गणेश दत्त शर्मा ने बताया आज आठवीं के बच्चे ज्यादातर स्कूल आए हैं और बच्चों में काफी उत्साह देखा गया। उन्होंने बताया सरकार की गाइडलाइन के अनुसार ही बच्चों को शारीरिक दूरी और मास्क पहनकर ही क्लास में प्रवेश किया गया।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma