शिमला, जागरण संवाददाता। हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय का पूर्व परीक्षा प्रशिक्षण केंद्र प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए छात्रों को कोचिंग देगा। हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवाएं (एचएएस) सहित नेट, सेट के लिए यह कोचिंग दी जाएगी। विश्वविद्यालय ने कोचिंग का शेड्यूल जारी कर दिया है। एचएएस प्रीलीमिनरी परीक्षा की कोचिंग 24 मई से 24 जुलाई तक होगी। कोचिंग लेने के इच्छुक छात्र 15 से 17 मई तक आवेदन कर सकते हैं। नेट की कोचिंग के लिए 17 मई से 19 मई तक आवेदन होंगे।

इसकी कोचिंग 27 मई से 27 जुलाई तक करवाई जाएगी। पूर्व परीक्षा प्रशिक्षण केंद्र में अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्रों को एचएएसए नेट की परीक्षाओं की निशुल्क कोचिंग दी जाएगी। सामान्य वर्ग के छात्रों के लिए 2500 प्रति माह फीस होगी।

प्री-परीक्षा कोचिंग केंद्र के निदेशक प्रो. ओपी वर्मा ने बताया कि अनुसूचित जाति और अन्य पिछड़ा वर्ग से संबधित अभ्यार्थियों जिनके परिवार की वार्षिक आय 8 लाख से कम है और अनुसूचित जनजाति वर्ग के अभ्यर्थी जिनके परिवार की वार्षिक आय 2.50 लाख से कम है, उन छात्रों को निशुल्क कोचिंग दी जाएगी। जबकि सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए कोचिंग फीस 2500 प्रति माह देना होगी।

जिन अभ्यार्थियों की कक्षाओं में कुल उपस्थिति 75 फीसद से अधिक होगी उन्हें राज्य सरकार की योजना के तहत छात्रवृति दी जाएगी। कोचिंग के लिए आवेदन पत्र निदेशक के कार्यालय से निशुल्क प्राप्त किए जा सकते हैं। हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय की वेबसाइट से भी इसे डाउनलोड किया जा सकता है। अभ्यार्थी ज्यादा जानकारी के लिए 0177-2830791 व 2833458 फोन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।

हिमाचल प्रदेश विवि में ऑनलाइन पढ़ाई

राज्य सरकार के राजस्व विभाग आपदा प्रबंधन सैल के कोरोना महामारी को लेकर जारी आदेशों की अनुपालना के मुताबिक, विवि प्रशासन ने केवल शैक्षणिक विभागाें के विभागाध्यक्ष, निदेशक, शोध संस्थानाें, केन्द्राें के निदेशक, अधिष्ठाता अैर प्रशासनिक अधिकारियों को स्टाफ के साथ उपस्थित रहने के निर्देश दिए हैं। इसके अतिरिक्त गैर शिक्षक कर्मचारी 50 फीसद रोस्टर सिस्टम के आधार पर कार्यालय में उपस्थित रहेंगे। शिक्षक दस मई तक घर से ही पढ़ाएंगे।