घुमारवीं, संजीव शामा। HP Police Millionaire Constable, हिमाचल प्रदेश पुलिस के कांस्‍टेबल की पल भर में किस्‍मत बदल गई और वह करोड़पति बन गया। जिला बिलासपुर के घुमारवीं पुलिस थाना में तैनात कांस्टेबल सुनील को क्रिकेट के जुनून ने रातों रात करोड़पति बना डाला। गांव बैरी रजादियां निवासी सुनील ठाकुर 2016 बैच में भर्ती हुआ था। बचपन से ही सुनील को क्रिकेट का जुनून है और इसी जुनून के चलते वह कई बार फेंटेसी लीग में अपनी टीम बनाकर मैच खेलता था, लेकिन पता नहीं था कि क्रिकेट का यही जुनून उसे एक दिन करोड़पति बना देगा। शुक्रवार को हुए इंडिया-श्रीलंका तीसरे एक दिवसीय मैच के दौरान उन्होंने फेंटेसी लीग में एक करोड़ 15 लाख रुपये का इनाम जीता है।

दरअसल फेंटेसी लीग के ग्रैंड लीग में पहला पुरस्कार एक करोड़ था। सुनील ठाकुर ने बताया कि उसने एक टीम बनाकर दो कंटेस्ट में भाग लिया और महज चार घंटे में ही उनकी किस्मत बदल गई। उनके अनुसार पूरा मैच देखने को तो नहीं मिला। लेकिन उन्होंने अपने मोबाइल पर नजर बनाए रखी। 

गरीब परिवार में हुआ जन्‍म

क्रिकेट फेंटेसी लीग में एक करोड़ 15 लाख रुपये की राशि जीतने वाले सुनील ठाकुर मूल रूप से जिला बिलासपुर के गांव बेरी राजदीयां के रहने वाले हैं। बेहद गरीब परिवार में पैदा हुए सुनील को बचपन से ही क्रिकेट का शौक रहा है। सुनील के पिता खेती-बाड़ी करते हैं तथा उनका बड़े भाई बरमाना में एक दुकान चलाते हैं।

दो महीने पहले बने हैं पुत्र के पिता

2019 में सुनील की शादी हुई है तथा अभी 2 महीने पहले ही उन्हें एक पुत्र रत्न की प्राप्ति भी हुई है सुनील की प्राथमिक शिक्षा गांव के ही नजदीक स्कूल दसगांव में हुई तथा उन्होंने हायर सेकेंडरी की शिक्षा सीनियर सेकेंडरी  स्कूल ओहर से प्राप्त की। इसके बाद उन्होंने राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय बिलासपुर से स्नातक की डिग्री प्राप्त की। 2016 में सुनील पुलिस में कांस्टेबल के पद पर भर्ती हुए थे।

पांच साल से लगा रहे थे टीम

सुनील का कहना है कि क्रिकेट का शौक उन्हें बचपन से ही था तथा वह इस फेंटेसी लीग में पिछले चार-पांच साल से अपनी किस्मत आजमा रहे थे और शुक्रवार को इंडिया श्रीलंका के एक दिवसीय मैच में उनकी किस्मत पलटी। उन्‍होंने 49 तथा 35 रुपये में टीमों का चयन किया था। जिसमें उन्हें एक करोड़ 15 लाख रुपये की राशि जीती।

इस तरह खर्च करेंगे पैसा

सुनील ठाकुर के अनुसार लीग संचालकों ने टैक्स काटने के बाद बची राशि 80 लाख 51 हजार 770 रुपये उनके ऐप्प वालेट में डाल दिए हैं तथा इस राशि को 3 से 5 दिन के अंदर बैंक में  ट्रांसफर हो सकेगी। सुनील ने बताया वह इस पैसे से सबसे पहले अपने तथा परिवार के लिए एक घर बनाएंगे तथा उसके बाद घर की जरूरतों के हिसाब से खर्च करेंगे तथा कुछ पैसा वह है परिवार तथा बच्चों के भविष्य के लिए बचत के रूप में रखना चाहते हैं ताकि आने वाले समय में बच्चे का भविष्‍य संवर सके।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma