शिमला, राज्य ब्यूरो। Himachal Coronavirus Death, हिमाचल प्रदेश में अब कोरोना संक्रमण से हो रही मौतों का ऑडिट होगा। प्रदेश सरकार ने पिछले तीन से चार सप्ताह के दौरान गंभीर रोगियों की अपेक्षा सामान्य की मौत के बाद इसका निर्देश दिया है। इसमें मौत के कारणों व लापरवाही का पता किया जाएगा। कोरोना सैंपल की जांच के दौरान पता चला कि प्रदेश में बी 1617 वैरिएंट के कारण कोरोना मामलों और मौत में वृद्धि हो रही है। इन दिनों ये वैरिएंट ही पूरे देश में सक्रिय है, जिसके कारण मामले बहुत अधिक बढ़ गए हैं।

यह भी पढ़ें: कोरोना संक्रमित के अंतिम संस्‍कार के लिए सरकार ने बनाए नोडल अधिकारी, विधायकों को भी दिए निर्देश

एक साल में 2118 कोरोना संक्रमितों की मौत

प्रदेश में एक साल में 2118 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। जिसमें से करीब बीते दो माह के दौरान 1055 की मौत हुई है। प्रदेश में हर दिन करीब 5000 कोरोना के नए मामले आ रहे हैं और हर दिन 60 से 70 तक मौत हो रही हैं। प्रदेश में बीते दो दिन के दौरान 120 से अधिक लोगों की मौत के दौरान सामने आया है कि उपचार के लिए कोरोना पॉजिटिव समय पर अस्पताल पहुंचे उसके बाद भी उन्हें नहीं बचाया जा सका।

यह भी पढ़ें: बद्दी में पैनेशिया बायोटेक कंपनी शुरू करेगी कोवैक्सीन का उत्पादन, बीते वर्ष अमेरिका को भेजी थी यहां से मदद

दो दिन के दौरान होम आइसोलेट छह लोगों की मौत

प्रदेश में बीते दो दिन के दौरान हुई मौतों में होम आइसोलेट छह लोगों की ही मौत हुई है, अन्य अस्पताल में उपचाराधीन थे।  इन्हीं आंकड़ों के कारण अब डेथ ऑडिट किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: Himachal Coronavirus Cases Update: 40 हजार के करीब पहुंचे एक्टिव केस, कांगड़ा में मौत का आंकड़ा 600 पार

यह भी पढ़ें: Himachal Weather Update: प्रदेश में अभी राहत नहीं देगा मौसम, फ‍िर सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ