हमीरपुर, जागरण संवाददाता। Hamirpur Administration Remove Encroachment, हमीरपुर शहर बस स्टैंड के पास स्थापित 12 खोखों को गिराकर प्रशासन ने शनिवार को बड़ी कार्रवाई अमल में लाई है। मामला बहुत पुराना है और खोखाधारकों की जमीन लोक निर्माण विभाग के नाम निकलने के बाद किए गए अवैध अतिक्रमण को प्रशासन की टीम ने हटा दिया है। तहसीलदार हमीरपुर अशोक पठानिया, तहसीलदार टौणी देवी डाक्‍टर अशाीष, नायब तहसीलदार हमीरपुर, नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी केएल ठाकुर सहित नगर परिषद के 15 कर्मचारी, लोक निर्माण विभाग के जेई गौतम व एसडीओ सहित थाना प्रभारी निर्मल सिंह, महिला थाना प्रभारी किरण वाला सहित टीम ने सुबह आठ बजे से बस अड्डा पर खोखों हटाने की मुहिम शुरू की।

इस दौरान खोखा धारक शांति स्वरूप, जागिंद्र पाल, झौंफी राम, पृथ्वीं चंद, अमर चंद, पवन कुमार, रोशन लाल, अश्वनी ठाकुर, सुभाष चंद, परमानंद, नंद सिंह तथा धर्मपाल और व विपिन द्वारा किए गए अवैध अतिक्रमण को हटाया गया। इस दौरान नौ खोखाधारकों ने स्वयं अपना सामान उठा लिया और तीन खोखाधारक खोखों पर ताला लगाकर रफूचक्कर हो गए थे। टीम ने सभी खोखाधारकों को पहले नोटिस देकर अपना सामान खाली करने के दिशा निर्देश जारी कर दिए थे।

बता दें इससे पहले इन खोखाधारकों ने हाई कोर्ट की शरण ली थी और उसके बाद मामला निचली अदालत को भेजा गया था जहां से खोखो धारकों को किसी भी तरह राहत नहीं मिली और प्रशासन द्वारा किए सभी नियमों शर्तों के तहत कार्रवाई को सही ठहराया गया, जिसके चलते आज यह कार्रवाई की है। पुलिस प्रशासन ने इस कार्रवाई में ड्रोन का सहारा लिया और मामले पर पूरी नजर रखी।

हालांकि कुछ खोखाधारकों ने प्रशासन की शुरू में की कार्रवाई के दौरान खलल डालने का प्रयास किया। लेकिन पुलिस टीम ने उन्हें अपने कब्जे में ले लिया और गाड़ी में बिठाकर थाना में ले गए। महिला खोखाधारक की आंखों में जरूर आंसू दिखे। लेकिन प्रशासन की टीम के आगे उनकी एक नहीं चली। इस दौरान तहसीलदार हमीरपुर डाक्‍टर अशोक पठानिया बताया प्रशासन द्वारा गठित टीम ने 12 खोखाधारकों के अतिक्रमण को हटा दिया है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma