हमीरपुर, जागरण संवाददाता :  हमीरपुर के बाल स्कूल खेल मैदान में राज्य स्तरीय पूर्ण राज्यत्व दिवस समारोह का आयोजन किया गया जिसमें बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री सुखविन्द्र सिंह सुक्खू ने शिरकत की। समारोह में पहुंचने पर मुख्यमंत्री सुक्खू का पहुचने पर भव्य स्वागत किया गया और मुख्यमंत्री सुखविन्द्र सिंह सुक्खू ने तिरंगा फहराया और मार्च पास्ट की सलामी ली।

कार्यक्रम के दौरान प्रदेश की संस्कृति की झलक को दिखाते हुए झांकियां भी निकाली गई। इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री, कैबिनेट मंत्री हर्षवर्धन, रोहित सिंह, अनिरुद्ध सिंह ,विधायक आशीष शर्मा, राजेंद्र राणा, इंद्रदत्त लखनपाल के अलावा गणमान्य लोग मौजूद रहे। समारोह के दौरान विभिन्न स्कूलों के छात्रों व अन्य कलाकारों ने रंगारंग प्रस्तुतियां देकर भी समां बाधां और शानदार परेड करने पर पुलिस , होमगार्ड के जवानों को प्रशस्ति पत्र दिया गया तो उनके साथ स्वतंतत्रता सेनानी परिवारों को भी शाल टोपी भेंट कर सम्मानित किया गया।

पीएम मोदी को दिया गया हिमाचल आने का न्यौता

वहीं मुख्यमंत्री सुक्खू ने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद देश के पीएम से मुलाकात करने का दायित्व रहता है लेकिन पिछली बार कोरोना पॉजिटिव होने से मिल नहीं पाए थे । उन्होंने कहा कि पीएम मोदी से मुलाकात हुई है और हिमाचल के विकास के लिए बातचीत हुई है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी को हिमाचल आने का न्यौता दिया गया है।

हिमाचल के लिए भविष्य में कड़े फैसने लेने होंगे 

वहीं मुख्यमंत्री सुक्खू ने कहा कि ओल्ड पेंशन स्कीम को देने के लिए पूर्व भाजपा सरकार आनाकानी कर रही थी लेकिन कांग्रेस सरकार ने ओल्ड पेंशन स्कीम को देकर सामाजिक दृष्टिकोण से जुडे मामले को पूरा किया है। उन्होंने कहा कि वित्तीय कोष भाजपा सरकार ने 75 हजार करोड़ रुपये का कर्ज छोडा है जिससे अब मुश्किलें तो होनी ही है। उन्होंने कहा कि 900 संस्थान को खोलने के लिए जयराम ठाकुर में दैवीय शक्ति आने पर सैकड़ों संस्थान खोल दिए थे और चुनावों से पूर्व इतने संस्थान खोलना कहा उचित था।

उन्होंने कहा कि अगर इन संस्थानों को डी नोटिफाई नहीं करते तो और पांच हजार करोड़ का कर्जा हो जाता है । उन्होंने कहा कि हिमाचल को देश का सबसे सुन्दर प्रदेश के तौर पर विकसित करना चाहते है और आने वाले समय में भी कडे फैसले करने पड़ेंगे।

हिमाचल के ट्रक आपरेटरों का ध्यान सरकार रखेगी - सुक्खू

सीमेंट कारखानों के विवाद पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योग मंत्री के साथ इस बाबत बात हुई और समाधान निकाला जा रहा है। उन्होंने कहा कि हिमाचल के ट्रक आपरेटर प्रदेश के स्थायी निवासी है और उनके परिवार का ख्याल रखना सरकार का दात्यिव है। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार के शोषण से बचाना सरकार का दायित्व है। उन्होंने कहा कि सरकार ने ट्रक ऑपरेटरों से बात की है और हिमाचल के ट्रक आपरेटरों का ध्यान सरकार रखेगी और आजीविका चलाने वाले किराया निर्धारित किया जाएगा और नीतिगत फैसला जल्द लिया जाएगा।

हमीरपुर स्थित कर्मचारी चयन आयोग में धांधलियों पर मुख्यमंत्री सुक्खू ने कहा कि इस संस्थान की जांच चल रही है लेकिन प्राथमिक रिपोर्ट बडे चौंकाने वाली है।

Edited By: Nidhi Vinodiya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट