Move to Jagran APP

Himachal Pradesh News: टांडा मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का मामला आया सामने, सीनियर ट्रेनी डॉक्टरों पर लगे आरोप; हुई कार्रवाई

टांडा मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का मामला सामने आया है। कॉलेज के सीनियर ट्रेनी डॉक्टरों पर रैगिंग के आरोप लगे हैं। दो प्रशिक्षु चिकित्सकों पर एक -एक लाख और दो पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया है। टांडा संस्थान में अमन काचरू रैगिंग हत्याकांड के बाद ये दूसरा बड़ा मामला है। वहीं एंटी रैगिंग कमेटी ने जांच रिपोर्ट के आधार पर चार छात्रों को निलंबित कर दिया है।

By Jagran News Edited By: Deepak Saxena Published: Tue, 11 Jun 2024 03:56 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 03:56 PM (IST)
टांडा मेडिकल कॉलेज में रैगिंग का मामला आया सामने (फाइल फोटो)।

जागरण संवाददाता, धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा स्थित डॉ. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज अस्पताल टांडा मे रैगिंग का मामला सामने आया है। कालेज के सीनियर ट्रेनी डॉक्टरों पर रैगिंग के आरोप लगे है। एंटी रैगिंग कमेटी की प्रारंभिक जांच रिपोर्ट के आधार पर कालेज प्रबंधन ने चार छात्रों को सस्पेंड किया है।

टांडा अस्पताल में रैगिंग, सीनियर ट्रेनी डाक्टरों पर रैगिंग का आरोप

एंटी रैगिंग कमेटी की प्रारंभिक जांच रिपोर्ट के आधार पर कालेज प्रबंधन ने चार छात्रों को सस्पेंड किया है। ट्रेनी डॉक्टर सस्पेंड 2 पर एक-एक लाख रुपये व दो पर 50-50 हजार जुर्माना लगाया गया है। टांडा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ही अमन काचरू बहुचर्चित रैगिंग हत्याकांड हुआ था, जिस पर मामला न्यायालय में चला था। इसी मामले के बाद एंटी रैगिंग एक्ट भी सामने आया था जिससे अन्य छात्रों को रैगिंग से बचाया जा सके। बताया जा रहा है कि टांडा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में रैगिंग का यह मामला 5 जून को हुआ है।

टांडा संस्थान में अमन काचरू रैगिंग हत्याकांड के बाद दूसरा बड़ा मामला

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा स्थिति टांडा मेडिकल कालेज में रैगिंग का मामला सामने आया है। कॉलेज के सीनियर ट्रेनी डॉक्टरों पर रैगिंग के आरोप लगे है। एंटी रैगिंग कमेटी की प्रारंभिक जांच रिपोर्ट के आधार पर कालेज प्रबंधन ने चार छात्रों अरूण सूद (एमबीबीएस बैच-2019), सिद्धांत यादव (एमबीबीएस बैच-2019), रागवेंद्र भारद्वाज (एमबीबीएस बैच - 2022) और भवानी शंकर (एमबीबीएस बैच-2022) को निष्कासित कर दिया है। इसकी पुष्टि टांडा मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल डा. मिलाप ने की है।

ये भी पढ़ें: Delhi Leh Bus Service: दिल्ली-लेह मार्ग के सुहाने सफर का आनंद लेने को हो जाएं तैयार, आज से शुरू हुई बस सेवा

यह बोले मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल

डॉ. मिलाप ने बताया कि रैगिंग में शामिल 2 स्टूडेंट्स को एक-एक साल के लिए निष्कासित किया गया है और उन्हें 1-1 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है, जबकि दो अन्य छात्रों को 6 महीने के लिए निष्कासित किया गया। इन पर 50-50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है। सभी को 7 दिन के अंदर जुर्माना जमा करने को कहा गया है।

टांडा मेडिकल कालेज में रैगिंग का यह मामला 5 जून का है। 6 जून को हॉस्टल वार्डन के माध्यम से इसकी सूचना कालेज प्रशासन को मिली। इसी दिन यह मामला एंटी रैगिंग कमेटी को जांच के लिए दिया गया। जिसके बाद मंगलवार सुबह कालेज प्रशासन ने इस मामले में दोषी पाए गए चारों छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

ये भी पढ़ें: Himachal By Election 2024: 'यदि इतने संत हैं तो राजनीति छोड़ दे...', पूर्व निर्दलीय विधायकों को लेकर बोले CM सुक्खू


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.