संवाद सहयोगी, धर्मशाला : प्रशांत अद्वैत फाउंडेशन के संस्थापक आचार्य प्रशांत मैक्लोडगंज पहुंच गए। मैक्लोडगंज में 20 मई तक चलने वाली अद्वैत वेदांत कार्यशाला में वह शरीक होंगे और कार्यशाला में भाग ले रहे वालंटियरों समेत स्थानीय बाशिंदों को वेदांत के बारे में जागरूक करेंगे। कार्यक्रम आयोजक कुंदन सिंह ने बताया कि 26 अप्रैल को शुरू हुई इस कार्यशाला का शुभारंभ उपायुक्त ने किया गया था। हालांकि कार्यक्रम में शरीक होने के लिए धर्मगुरु दलाईलामा को भी निमंत्रण दिया गया था, लेकिन वह इस कार्यक्रम में भाग नहीं लेंगे। आचार्य यशी के निमंत्रण पर तीन मई को दिल्ली से कार्यशाला में भाग लेने पहुंचे दस वालंटियर तिब्बतन लाइब्रेरी का भ्रमण करेंगे और यहां भी ज्ञान अर्जित करेंगे। कार्यक्रम के दौरान सुबह व शाम दो सत्र चल रहे हैं। सुबह के सत्र में वालंटियर व स्थानीय लोगों को लाइब्रेरी के माध्यम से भागवत गीता, उपनिषद सहित कई धार्मिक पुस्तकों के अलावा कबीर इत्यादि की पुस्तकों का अध्ययन करने का अवसर मिल रहा है। दूसरे सत्र में इन्हीं विषयों पर चर्चा भी हो रही है। यह कार्यक्रम धर्मशाला में पहली बार हो रहा है। कार्यक्रम में भाग लेने वालों का निशुल्क प्रवेश है। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य वेदांत से वालंटियरों व स्थानीय लोगों को अवगत करवाना है और उनके जहन में यदि कोई भ्रांति हैं तो उसे दूर करना है।