संवाद सहयोगी, चंबा : बच्चों का शोषण होता हुआ देखें तो लोग 1098 नंबर डायल कर चाइल्डलाइन को इसकी सूचना दे सकेत हैं। बाल मजदूरी व बाल विवाह करवाना अपराध है। ऐस लोगों की सूचना देने में देरी न करें। लोगों की ऐसी जानकारी एजुकेशन सोसाइटी चाइल्डलाइन चंबा ने उपमंडल की पंचायत अठलूईं के द्रोबी गांव में आउटरीच कार्यक्रम का आयोजन कर दी। चाइल्ड लाइन टीम के सदस्य काजू राम व विक्की जरयाल ने लोगों व बच्चों को चाइल्डलाइन के टोल फ्री नंबर 1098 के बारे में बताया। उन्होंने टोल फ्री नंबर के माध्यम से अनाथ, स्कूल छोड़ चुके, घर से भागे हुए, दिव्यांग, शोषित, अति निर्धन, बाल-विवाह से ग्रसित, बाल-मजदूरी से ग्रसित, छेड़छाड़ से पीड़ित व अन्य किसी भी कारण से शोषित बच्चों के लिए दी जाने वाली सुविधाओं व सेवाओं के बारे में बताया। लोगों को नशे के खिलाफ तथा पोक्सो अधिनियम के संबंध में भी जागरूक किया। उन्हें बताया कि यदि किसी के द्वारा नाबालिग को बहलाया-फुसलाया जाता है तो इसे किसी भी रूप में नजरंदाज न किया जाए। इसके साथ नशा व इंटरनेट मीडिया के लाभदायक व हानिकारक प्रभाव तथा सुरक्षित व असुरक्षित स्पर्श के बारे में भी गंभीरता से चर्चा की गई। क्षेत्रवासियों को कोविड-19 की जानकारी दी। उन्हें इस संबंध में सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन करने व अपनी सामाजिक भागीदारी निभाने के लिए प्रेरित किया। उन्हें बताया कि जब भी वे भीड़भाड़ भरे इलाके में जाएं तो मास्क अवश्य पहनें। कोरोना वैक्सीनेशन की दूसरी डोज लगाएं। संतुलित आहार व कुपोषण के बारे में भी बताया।

काजू राम ने बताया कि एजुकेशन सोसायटी चाइल्डलाइन की ओर से इस तरह के कार्यक्रम जिला के विभिन्न क्षेत्रों में भविष्य में भी आयोजित किए रहेंगे, ताकि लोगों को बाल संरक्षण व कोरोना वैक्सीनेशन के महत्व के संबंध में प्रेरित किया जा सके।

Edited By: Jagran