संवाद सहयोगी, साढौरा : साढौरा थाना क्षेत्र के गांव सुल्तानपुर निवासी कमलजीत को बेरहमी से पीटे जाने की वारदात के मामले में पुलिस ने फिलहाल कनीपला निवासी रिकी पर केस दर्ज किया है। इस वारदात की वीडियो भी वायरल हुई थी। जिसमें बदमाशों की दबंगई दिख रही थी। वीडियो के आधार पर पुलिस ने छह हमलावरों की पहचान कर ली है। उनकी तलाश में दबिश दी जा रही है। वहीं इस मामले में दो आरोपितों को हिरासत में ले लिया गया है। इनमें एक आरोपित वह है। जिसने कमलजीत को फोन कर घर से बुलाया था। हालांकि पुलिस अभी पकड़े जाने की पुष्टि नहीं कर रही है। साढौरा थाना प्रभारी सतीश कुमार ने बताया कि दोनों पक्षों के बीच 15 हजार रुपये के लेन देन का मामला है। जिसमें पहले भी इनके बीच मारपीट हो चुकी है। कमलजीत ने आरोपित रिकी को यह पैसा उधार दिया था। आरोपितों की तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। सुल्तानपुर निवासी कमलजीत चंडीगढ़ के बलसाला में जेसीबी चलाता है। 20 दिन पहले ही वह घर आया था। रविवार की सुबह 11 बजे उसे गांव में ही मोड़ पर ढाबा चलाने वाले इशाक ने रिकी के कहने पर फोन कर बुलाया था। रिकी अपने साथियों के साथ दो कारों में आया था। जैसे ही कमलजीत यहां पर पहुंचा, तो उस पर रिकी व उसके साथियों ने धारदार हथियारों, डंडों व राड से हमला कर दिया था। उसे बेरहमी से पीटा गया था। इसकी वीडियो भी बनाई गई थी। जिसमें साफ दिख रहा था कि हमलावर उसकी टांगों व मुंह पर वार कर रहे थे। उनसे बचने के लिए कमलजीत गुहार लगाता रहा, लेकिन यह हमलावर उसे गालियां देते रहे और पीटते रहे। पैसों के लेन देन का मामला :

इस वारदात में शामिल हमलावरों में अभी तक कनीपला निवासी रिक्की, सलेमपुर निवासी सन्नी, लेदा खास निवासी सौरभ, मछरौली निवासी बिद्रा, काका, बिलासपुर निवासी गुरसेवक व पंजेटो निवासी दीप की अभी तक पहचान हुई है। पुलिस के मुताबिक, रिक्की व कमलजीत के बीच पैसों के लेन देन को लेकर विवाद हुआ था। करीब तीन माह पहले कमलजीत ने अपने साथियों के साथ रिक्की को पीटा था। जिसकी वीडियो भी वायरल की गई थी। हालांकि उस मामले में पुलिस को कोई शिकायत नहीं दी गई थी। वहीं रिक्की पर पहले भी मारपीट के कई मामले दर्ज हैं। कमलजीत पर भी मारपीट के मामले दर्ज हैं।

Edited By: Jagran