जागरण संवाददाता, यमुनानगर : दो साल पहले पति की मौत हो गई। परिवार के गुजार के लिए सिर्फ जमीन है। जमीन भी अब खनन माफिया के निशाने पर है। माफिया ने अवैध तरीके से खोदाई कर डाली। इसकी शिकायत खिजराबाद थाना पुलिस को कई दफा दी गई, मगर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। जमीन पर इतनी गहरी खोदाई कर डाली कि बाढ़ आने पर तटबंध टूट जाएगा। तटबंध के टूटने पर साथ लगते 30-40 गांवों में पानी घुस जाएगा। यहां पर खेती की जमीन भी खराब हो जाएगी। विरोध करने पर मारने की धमकी मिल रही है। आरोपितों पर कार्रवाई कर जमीन बचाने की गुहार रझेड़ी निवासी निशा रानी ने सीएम को भेजी शिकायत में लगाई है।

सीएम को भेजी शिकायत में निशा रानी ने बताया कि बेलगढ़ एरिया में उनकी जमीन है। इस जमीन में से पौने एकड़ के करीब उनका हिस्सा बनता है। जमीन पर जाने के लिए सिर्फ खेती के लिए रास्ता है। खनन माफिया ने सरकारी जंगल काटकर जमीन पर जाने के लिए रास्ता बना लिया है।

सरकारी जमीन में भी खनन

महिला ने बताया कि खनन माफिया उनकी जमीन के साथ सरकारी जमीन को भी खनन कर डाला है, जो गलत है। यह सब काम अधिकारियों की मिलीभगत से हो रहा है। महिला का कहना है कि जब उनको पता लगा तो उन्होंने अवैध खनने के बारे में पूछा तो आरोपितों ने उनसे गोलीगलौज की। धक्का-मुक्की करते हुए वहां से जाने के लिए कहा। साथ में यह भी धमकी दी कि मुड़कर अगर वापस आई तो गोली से उड़ा देंगे।

साथ लगते गांव भी होंगे बर्बाद

महिला का कहना है कि माफिया और अधिकारियों के मिलीभगत के चलते क्षेत्र के दर्जनों गांवों के लोगों की ¨जदगी दांव पर है। समय रहते हुए इस पर काबू पाना बहुत जरूरी है। बाढ़ आने पर लाखों लोगों की ¨जदगी बर्बाद हो जाएगी और जो बचेंगे वे भुखमरी के कगार पर पहुंच जाएंगे।

सांसद सैनी भी दे चुके खनन करने शिकायत

जनवरी में कुरुक्षेत्र सांसद राजकुमार सैनी की जमीन को माफिया ने खोद डाला था। सैनी के भतीजे ने खनन विभाग को शिकायत दी थी। उस पर भी कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई। इसी तरह इस एरिया में दर्जनों ऐसे लोग हैं, जिनकी जमीन को खनन माफिया ने कभी रात के अंधेरे में तो कभी दिन के उजाले में खोद डाला। डर के कारण ये लोग शांत रहते हैं। भारतीय किसान संघ के पदाधिकारी रतन ¨सह देवधर और रामबीर चौहान भी अवैध खनन से क्षेत्र के गांव के खतरे की शिकायत दे चुका है। इस पर भी कोई अमल नहीं हुआ। ध्यान रहे 2012 में इस एरिया में आई बाढ़ ने तबाही मचाई थी

एसएचओ हो चुके हैं लाइन हाजिर

अवैध खनन पर जब पाबंदी नहीं लगी तो जगाधरी निवासी किसान राजीव राणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। कोर्ट की टीम मौके पर जांच के लिए गई। उसके बाद हाईकोर्ट ने एसपी को तलब कर लिया। तब एसपी ने अवैध खनन के मामले में तत्कालीन एसएचओ शीशपाल वालिया पर कार्रवाई की। उसके बाद भी इस एरिया में लोगों की जमीन पर अवैध तौर से खोदाई हो रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप