Move to Jagran APP

Sonipat Crime: एक साल में रुपये दोगुना करने का झांसा देकर ठगे 6.67 करोड़ रुपये, सीएम को शिकायत देने पर दर्ज हुआ मामला

आरोपित ने लुधियाना में कपड़े और काजू व बादाम का खुद का कारोबार बताकर लोगों को झांसे में लिया। जब समय पर पैसे नहीं लौटाए गए तो ठगी का अहसास हुआ। पुलिस को शिकायत देने पर मामला दर्ज नहीं किया गया। इस पर पीडि़त मुख्यमंत्री नायब सैनी से मिले। मुख्यमंत्री के आदेश पर शहर थाना गोहाना में आठ लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया।

By Nand kishor Bhardwaj Edited By: Abhishek Tiwari Wed, 12 Jun 2024 12:56 PM (IST)
Sonipat Crime: एक साल में रुपये दोगुना करने का झांसा देकर ठगे 6.67 करोड़ रुपये

जागरण संवाददाता, गोहाना। एक साल में रुपये दोगुना करने का झांसा देकर एक महिला और उसके आठ रिश्तेदारों व जानकारों से लगभग 6.67 करोड़ रुपये की ठगी कर ली गई। उन्होंने लोन करवाकर व उधार लेकर पैसे दिए थे। ठगी का आरोप कपड़े का कारोबार करने वाली महिला और उसके स्वजन पर लगा है।

लुधियाना में काजू-बादाम व कपड़े का बताया था कारोबार

आरोपित ने लुधियाना में कपड़े और काजू व बादाम का खुद का कारोबार बताकर लोगों को झांसे में लिया। जब समय पर पैसे नहीं लौटाए गए तो ठगी का अहसास हुआ। पुलिस को शिकायत देने पर मामला दर्ज नहीं किया गया। इस पर पीडि़त मुख्यमंत्री नायब सैनी से मिले। मुख्यमंत्री के आदेश पर शहर थाना गोहाना में आठ लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया।

सेक्टर सात में रहने वाली कमलेश ने पुलिस को बताया कि पहले उनके मकान के पास सुमन पत्नी सोनू रहती थी। वह अब आदर्श नगर में रहती है। दोनों मूल रूप से गांव गंगाना की रहने वाली हैं, जिससे उनमें पहले से जान पहचान है। सुमन ने उसे आदर्श में रहने वाली बबली से मिलवाया, जिसने चोपड़ा कॉलोनी में कपड़े की दुकान कर रखी है।

26 जनवरी 2023 को दुकान पर मुलाकात हुई, जिसमें बबली ने कहा कि उनकी एक कंपनी है जो लुधियाना में कपड़े और काजू-बादाम का कारोबार करती है। कंपनी एक साल में पैसे दोगुना कर देती है और छह माह में लेन-देन का हिसाब किया जाता है।

पैसे दोगुने करने का दिया झांसा 

बबली ने अपना सही नाम अंकिता बताया था। उसने उस पर विश्वास कर लिया और शुरुआत में 2.45 लाख रुपये दिए। दो सप्ताह बाद एक लाख रुपये दिए गए। उसके बाद समय-समय पर पैसे देती रही। इस बारे में उसने अपने जानकारों और रिश्तेदारों को भी बता दिया।

आठ जानकारों व रिश्तेदारों ने भी प्रापर्टी, आभूषणों और नौकरी पर लोन करवाकर सुमन व बबली को पैसे देने शुरू कर दिए। कम समय में पैसे दोगुना होने के लालच में लोगों से भी ब्याज व उधार में उठाकर उसे दिए।

कमलेश के अनुसार उसने और उसके जानकारों व रिश्तेदारों ने नवंबर 2023 तक सुमन व बबली को लगभग 6.67 करोड़ रुपये दे दिए थे। शुरूआत में आरोपित ने विश्वास में लेने के लिए लगभग 30 लाख रुपये वापस भी लौटाए थे। बाद में पैसे देने बंद कर दिए। हिसाब करने को कहा तो दोनों टालमटोल करने लगी। इस पर ठगी का अहसास हुआ। कमलेश की शिकायत पर बबली, उसकी बेटियों, बेटों, भाई व अन्य पर मामला दर्ज किया गया।

इन लोगों ने दिए थे पैसे

कमलेश के अनुसार उसने अलग-अलग समय में 68 लाख रुपये दिए थे। उसकी रिश्तेदार व जानकारों में गांव नूरनखेड़ा की शीला पत्नी कुलदीप ने 1.88 करोड़, दिल्ली की बबीता पत्नी अशोक ने 93 लाख, नूरनखेड़ा की अंग्रेज कौर पत्नी राजपाल ने 1.20 करोड़, उसकी बहन हांसी के गांव बांस की गीता पत्नी मंजीत ने 60 लाख, गोहाना के राकेश ने 60 लाख, उसकी बहन हिसार में गांव मांडा की शीला पत्नी राजबीर के 48 लाख, बहन की बेटी हांसी में गांव बांस की मंजू के 15 लाख, ननद पानीपत की सीना के 15 लाख रुपये बबली व सुमन को दिए। अधिकतर ने अपनी प्रापर्टी, आभूषणों पर लोन लेकर पैसे दिए।

दुकान पर बुलाकर पुलिस को कब्जा करने की दी सूचना

कमलेश के अनुसार नौ मार्च 2024 को बबली ने हिसाब करने के लिए अपनी दुकान पर बताया। वह स्वजन व रिश्तेदारों के साथ दुकान पर गई तो वहां पर वह और उसकी बेटी मिली। बबली ने उसे बुखार है वह दवा लेकर आती हूं और साथ में पैसे भी लेकर आऊंगी, तब तक आप दुकान पर बैठो।

कुछ देर बाद एक गाड़ी आई, जिसमें से पांच-छह लड़के उतरे और कहने लगे हमारी दुकान पर कब्जा कैसे कर लिया। कुछ ही देर में पुलिस कर्मी पहुंचे और बोले कि तुमने दुकान पर कब्जा कर रखा है, जिस संबंध में शिकायत की गई है।

पुलिस को पूरी बात बताई गई तो उनको ही कह दिया गया कि बबली की दुकान पर नहीं जाना है। कमलेश के अनुसार बबली ने अपने बच्चों के पासपोर्ट बनवा रखे हैं और उनको विदेश में भेजने की तैयारी में है।