Move to Jagran APP

Kangana Ranaut: 'क्या कंगना रनौत को थप्पड़ मारना ही आतंकवाद...' कुलविंदर कौर पर एकतरफा कार्रवाई मामले में भड़का किसान यूनियन

चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर एक्ट्रेस कंगना रनौत के सीआईएसएफ जवान द्वारा थप्पड़ मारने के मामले में भारतीय किसान एकता (बीकेई) ने रोष जताया है। बीकेई प्रदेशाध्यक्ष लखविंदर सिंह औलख ने कहा कि बीजेपी नेताओं की फितरत बन चुकी है कि किसान और किसानों के परिवारों पर टिप्पणी करने की। साथ ही उन्होंने कहा कि कंगना रनौत द्वारा थप्पड़ को ही आतंकवाद बताना और पंजाब के खिलाफ जहर उगलना निंदनीय है।

By Surender Kumar Edited By: Deepak Saxena Sat, 08 Jun 2024 04:19 PM (IST)
कुलविंदर कौर पर एकतरफा कार्रवाई मामले में राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपते किसान नेता।

जागरण संवाददाता, सिरसा। (Kangana Ranaut Slap Case) मोहाली एयरपोर्ट पर हुए घटनाक्रम में महिला कर्मचारी के खिलाफ की गई एकतरफा कार्रवाई के विरोध में शनिवार को भारतीय किसान एकता ने शहर में रोष मार्च निकाला। रोष मार्च नेहरू पार्क से शुरू होकर जनता भवन रोड से होते हुए सुभाष चौक, भगत सिंह चौक, सुरखाब चौक पर आकर संपन्न हुआ। किसानों ने निष्पक्ष जांच की मांग के लिए राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा।

किसानों के परिवारों पर आपत्तिजनक टिप्पणियां बीजेपी नेताओं की फितरत- औलख

बीकेई प्रदेशाध्यक्ष लखविंदर सिंह औलख ने बताया कि भाजपा नेताओं की फितरत बन चुकी है कि वह किसानों व किसान परिवारों के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणियां करते रहते हैं। कंगना रनौत का विवादों के साथ पुराना रिश्ता है। दूसरी तरफ सीआईएसएफ जवान कुलविंदर कौर पिछले 16 सालों से अपनी ड्यूटी ईमानदारी से निभा रही हैं। भगत सिंह एयरपोर्ट पर 2.5 साल से उसकी पोस्टिंग है।

2.5 साल पोस्टिंग के दौरान एक भी शिकायत नहीं

इतने लंबे समय में एक भी शिकायत उसके खिलाफ नहीं है। फिर कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के साथ ही ऐसा क्यों हुआ, यह भी जानने का विषय है। प्रशासन कुलविंदर कौर द्वारा मोहाली एयरपोर्ट पर कंगना रनौत को थप्पड़ मारने की सच्चाई को छिपाकर उसे गलत तरीके से पेश कर रहा है।

ये भी पढ़ें: Haryana Assembly Election 2024 की तैयारी में जुटी नायब-मनोहर की जोड़ी, टीम में नए चेहरों को मिलेगी जगह!

माताओं- बहनों के बारे में टिप्पणी करने पर गुस्सा स्वाभाविक- औलख

किसान-मजदूर अपने हकों के लिए संघर्ष करते हैं, उनकी माताओं-बहनों के बारे में अगर अपमानजनक शब्दावली बोली जाती है तो उनका गुस्सा होना स्वाभाविक है। औलख ने कहा कि माता भाकर की वारिश बहादुर किसान बेटी कुलविंदर कौर (Kulwinder Kaur) के साथ पूरे देश का किसान खड़ा है। उसके साथ किसी तरह की नाइंसाफी नहीं होने दी जाएगी।

इस मौके पर बीकेई प्रदेश महासचिव अंग्रेज सिंह कोटली, भिन्दा काहलो, गुरजीत मान, अमरीक सिंह बाजवा, नत्था सिंह, गुरलाल भंगू, बेअंत सिंह औलख, गुरजीत सिंह मान, कुलवंत सिंह भंगू, जगमेल सिंह, दिलबाग सिंह, सरपंच मोरीवाला, सूखा दंदीवाल, महावीर गोदारा, नथा सिंह, दलवारा सिंह रघुआना, सुखपाल सिंह रघुआना, नछत्तर सिंह चकेरियां, जगदीश स्वामी उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें: 'आम आदमी पार्टी की भ्रूण हत्या की कोशिश...,' AAP के अनुराग ढांडा ने कुरुक्षेत्र में मिली हार को लेकर कांग्रेस पर लगाए आरोप