जागरण संवाददाता, रोहतक: चाइल्ड लाइन रोहतक की ओर शुरू किए गए नशे और बाल तस्करी के खिलाफ अभियान का बुधवार को समापन हो गया। हालांकि आउटरीच के माध्यम से यह अभियान जारी रहेगा। अभियान की शुरुआत बहुअकबरपुर गांव से की गई। इसके बाद भालौठ, कंसाला, चमारियां, हुमायूंपुर में स्कूली बच्चों को इस संबंध में जागरूक किया गया। शहर की रामगोपाल कालोनी व जसबीर कालोनी में बच्चों को बाल तस्करी व नशे के दुष्प्रभावों की जानकारी देकर जागरूक किया गया। इसी कड़ी में भैणी मातो में बच्चों को नशे, बाल तस्करी एवं चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 के बारे में जागरूक किया।

28 अगस्त को भालौठ स्थित स्टार ग्लोबल स्कूल में महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी करमिदर कौर ने स्कूली बच्चों को बाल विवाह के दुष्प्रभावों पर बात की। साथ ही बाल तस्करी एवं वन स्टाप सेंटर के बारे में बच्चों को जानकारी दी। बाल संरक्षण अधिकारी पूनम स्कूली बच्चों का गुड टच और बेड टच के बारे मे बताया। साथ ही यह कहा कि बच्चा किसी मुसीबत में हो तो वह तुरंत उस जगह को छोड़ दें। यदि ऐसा नहीं कर पाता तो जोर से चिल्लाएं ताकि कोई उसकी मदद के लिए पहुंच सके। इसके बाद हेल्प लाइन पर काल कर मदद ले सकता है।

चाइल्ड लाइन के समन्वयक सुभाष ने स्कूली बच्चों से बात करते हुए कहा कि आज के दौर में साइबर क्राइम बढ़ रहे है। हमारी शिक्षा भी आनलाइन हो रही है। ऐसे में बच्चों को बहुत सावधानी बरतनी होगी। किसी फर्जी काल या अनजान से चैट न करें। कोई भी दिक्कत महसूस हो तो तुरंत अपने माता-पिता, स्कूल अध्यापक या अपने खास दोस्त से ऐसी बात सांझा करें।

Edited By: Jagran