करनाल, जेएनएन। तीन दिन से कोरोना के रिकार्ड मरीज सामने आ रहे हैं। बावजूद कल्पना चावला मेडिकल कालेज अस्पताल और नागरिक अस्पताल के अधिकारी एक साल बाद भी मरीजों को सुविधाओं की बजाए तनाव बांट रहे हैं। बुधवार को 359 मरीज पॉजिटिव पाए गए।

स्वास्थ्य विभाग की लचर व्यवस्था का परिणाम है कि बुधवार को 359 मरीज पॉजिटिव पाए गए और दो लोगों की मौत बताई जा रही है। उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने सिविल सर्जन की रिपोर्ट के अनुसार बताया कि जिले में 18061 मामले पोजिटिव हैं जबकि 2502 एक्टिव हैं। 187 मरीजों की मौत हो चुकी है, बुधवार को 359 नए केस पॉजिटिव पाए गए हैं। वायरस संक्रमण से संदिग्ध कुल 287851 व्यक्तियों के सैम्पल लिए गए, जबकि इनमें से 267587 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। 15372 मरीज ठीक होकर अपने घर चले गए हैं। उपायुक्त ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते केसों के ²ष्टिगत प्रशासन सख्त है। कल्पना चावला मेडिकल कालेज अस्पताल के निदेशक जगदीश चंद्र दुरेजा ने बताया कि संक्रमण बचाव के लिए प्रबंधन की तरफ से व्यवस्था में कोई कमी नहीं है। मरीजों की देखभाल के लिए चिकित्सकों की टीम 24 घंटे तैनात है। सैंपलिंग के लिए व्यवस्था बनाए रखने के लिए कुछ परिवर्तन किए गए हैं, जोकि आमजन के लिए सुरक्षित हैं।

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं के भरोसे लोगों को निराशा हाथ लग रही है। कोरोना के मरीजों की देखभाल के लिए कल्पना चावला मेडिकल कालेज अस्पताल को केंद्र बनाया गया है। शायद जिले के प्रथम अधिकारी इस केंद्र पर व्यवस्थाओं का जायजा लेना भूल गए हैं। यही कारण है कि कोरोना की दहशत के साथ यहां मरीजों को तनाव दिया जा रहा है। बुधवार को सैंपल देने पहुंचे लोगों से रजिस्ट्रेशन स्लिप मांगी गई और घंटों इंतजार करवाया गया है। शारीरिक दूरी का संदेश देने वाले अधिकारी खुद ही अपनी व्यवस्था में लोगों को भीड़ में खड़ा कर रहे हैं। बिल्डिंग की लिफ्ट से बीमार नहीं जा सकते हैं। यानि कोरोना की आड़ में अस्पताल प्रबंधन लचर कार्यप्रणाली को छिपाने में जुटा हुआ है।

सैंपलिंग के लिए घंटों होना पड़ा परेशान

कल्पना चावला मेडिकल कालेज अस्पताल में कोरोना का सैंपल देने सुरेंद्र कुमार, मुनीष, गुरप्रीत ने कहा कि तीन दिन से बुखार ठीक नहीं हो रहा है। कोरोना की दहशत और हिदायत के चलते यहां सैंपल देने के लिए सुबह 9.22 बजे पहुंच गया था। हैरानी है कि 11 बजे तक सैंपलिंग की तैयारी ही नहीं की गई। तब तक मरीजों की भीड़ लग गई है। यही नहीं बिना रजिस्ट्रेशन सैंपल लेने से मना कर दिया गया है। डेढ़ घंटा पहल इंतजार करते रहे बाद में आधा घंटा स्लिप कटवाने में लग गया। जब स्लिप कटवा कर पहुंचा तो कर्मचारी 8-10 सैंपल लेकर इंतजार करने के लिए बोल देता।

बल्ला में संक्रमण बचाव के लिए 1209 लोगों को लगाया टीका

कोरोना वायरस की दूसरी लहर से क्षेत्र में संक्रमितों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा कोविड-19 तथा टीकाकरण पर जोर देते हुए 11 से 14 अप्रैल तक टीका महोत्सव मनाया गया। बुधवार को बल्ला के सामुदायिक केंद्र में टीका महोत्सव के समापन पर स्वास्थ्य विभाग ने लक्ष्य को पार करते हुए 1209 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। सीएमओ डा. कुलदीप सिह, डिप्टी सीएमओ नरेश ने कहा कि कोरोना संक्रमण नए रूप में सामने आ रहा है, इसलिए मास्क पहनना और शारीरिक दूरी बनाए रखना जरूरी है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: बेटी पूरे कर रहे टैक्सी चालक पिता के ख्‍वाब, भाई ने दिया साथ तो कामयाबी को बढ़े हाथ

यह भी पढ़ें: पानीपत में बढ़ रहा कोरोना, बच्‍चों को इस तरह बचाएं, जानिये क्‍या है शिशु रोग विशेषज्ञ की सलाह

यह भी पढ़ें: चोट से बदली पानीपत के पहलवान की जिंदगी, खेलने का तरीका बदल बना नेशनल चैंपियन

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021