Move to Jagran APP

पानीपत मेंं लव जिहाद: विधवा को बनाया शिकार, फिर गर्भवती होने के बाद घर से निकाला

पानीपत में लव जिहाद मामले का खुलासा हुआ है। कुछ लोगों ने 25 साल की एक विधवा महिला को लव जिहाद का शिकार बनाया और जबरन उसका निकाह करा दिया। वह गर्भवती हुई तो उसे घर से निकाल दिया।

By Sunil Kumar JhaEdited By: Published: Sat, 22 Aug 2020 02:59 PM (IST)Updated: Sat, 22 Aug 2020 08:38 PM (IST)
पानीपत मेंं लव जिहाद:  विधवा को बनाया शिकार, फिर गर्भवती होने के बाद घर से निकाला
पानीपत मेंं लव जिहाद: विधवा को बनाया शिकार, फिर गर्भवती होने के बाद घर से निकाला

पानीपत, जेएनएन। शहर में लव जिहाद का मामला सामने आया है। इस घटना के सामने आने से हड़कंप मच गया है। यहां की एकता कॉलोनी में 25 साल की विधवा का लव जिहाद का शिकार बनाने का खुलासा हुआ है। आरोपित ने महिला को हत्‍या की धमकी देकर मदरसे में शादी कर ली औरफिर वह गर्भवती हुई तो उसे घर से निकाल दिया। 

loksabha election banner

पहले छिपाई पहचान, शादी के बाद दस्तावेज देख पता लगा असली नाम

शादी करने के लिए आरोपित ने पहले महिला की जांघ में चाकू घोंपा। फिर गला रेतने की धमकी देकर शादी का दबाव बनाया और मदरसे ले जाकर शादी की। महिला पांच माह की गर्भवती है। घर से निकाले जाने के बाद वह किसी तरह मॉडल टाउन निवासी एक जानकार के घर पहुंची। मॉडल टाउन की महिला की मदद से एसपी को शिकायत दी। अब पुलिस ने आरोपित पति, सास और ससुर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

पीड़िता  ने बताया कि वह मूलरूप से रायबरेली, उप्र की रहने वाली है। 15 साल की उम्र में  स्वजनों  ने उसकी एक युवक से शादी कर दी थी। शादी के सात साल बाद 2017 में पति की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। वह पानीपत में ससुराल पक्ष के पास रहकर कोठियों में साफ-सफाई का काम करने लगी। सालभर पहले गोल्डी नाम का युवक उसके पीछे  पड़  गया।

चंद रुपयों के लालच में दोस्तों से शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाता था आरोपित पति

आरोपित अक्सर उसके साथ रास्ते में  छेड़खानी  करता। परेशान होकर वह मायके चली गई तो आरोपित पीछा करते हुए उसके गांव में भी पहुंच गया। वहां से बहका-फुसला कर पानीपत में अपने घर ले आया। उसे पता चल गया था कि युवक उसके धर्म का नहीं है। वह शादी के राजी नहीं हुई तो आरोपित ने उसकी जांघ में चाकू घोंप दिया। हत्या करके अपनी जान देने की धमकी दी। आरोपित की मां और पिता भी उसके ऊपर दबाव बनाकर जनवरी 2020 में उसे मदरसे में ले गए। वहां निकाह करा दिया। अब पांच माह की गर्भवती होने पर आरोपितों ने उसे घर से निकाल दिया।

कभी डंडे तो कभी तवे से पीटता था आरोपित

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि युवक का असली नाम निजामुद्दीन है। पहले उसने अपना नाम गोल्डी बताया था। शादी का विरोध किया तो उसने कहा कि वह गोल्डी भी तो है। डराकर शादी की। शादी के बाद कभी डंडे तो कभी तवे से मारपीट करने लगा। आरोपित उसके ऊपर ससुर और  पड़ोसियों  के साथ गलत होने के आरोप लगाता। आरोपित परिवार उसके साथ मारपीट कर उसे कमरे में बंद कर देते थे।

मारने और तेजाब डालने की देते हैं धमकी

सास उसके हाथ-पांव बांधकर नहर में फेंकने की धमकी देती, पति उसके चेहरे पर तेजाब डालने की धमकियां देता। कई बार गला दबाने की कोशिश की। गर्भावस्था में भी उसके साथ मारपीट करते थे। पति चंद रुपये के लालच में दोस्तों के साथ शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाने लगा।  

पहले पति से हैं तीन बच्चे, आती है याद

पीड़िता  ने बताया कि उसके पहले पति से तीन बच्चे हैं। इनमें से दो बच्चे नाना के घर में रह रहे है। वहीं एक बेटा सचिन की मां के पास है। उसे बच्चों की याद आती है। लेकिन आरोपित उसे ना तो परिवार से मिलने देता और बातचीत पर भी एतराज जताता। यहां तक की निकाह में उसके परिवार के सदस्यों को भी नहीं बुलाया।

------

'' आरोपितों के खिलाफ दुष्कर्म और दहेज  प्रताड़ना  सहित विभिन्न धाराओं के तहत के दर्ज कर लिया है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

                                                                              - सुनील कुमार, थाना मॉडल टाउन प्रभारी, पानीपत।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.