करनाल, जेएनएन। तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का आंदोलन पूरे देश में जारी है। हरियाणा के जींद और रोहतक में किसानों ने खेतों में खड़ी गेहूं की फसल में आग लगा दी थी। वहीं, सोमवार को करनाल के किसान ने भी रोषस्वरूप अपनी गेहूं की फसल नष्ट कर दी। यहां के मुंडीगढ़ी गांव के किसान ने अपनी पांच एकड़ में खड़ी गेहूं की फसल पर ट्रैक्टर चला दिया। साथ ही एक एकड़ में खड़ी गन्ने की खड़ी फसल को भी आग के हवाले कर दिया। ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर खेत मालिक को ऐसा करने से रोका और गन्ने के खेत में लगी आग पर काबू पाया। उसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली। 

किसान नेताओं के बयान का दिया हवाला

मुंडीगढ़ी गांव के रहने वाले किसान साजिद ने बताया कि परेशान किसान तीनों कृषि कानून के विरोध में दिल्ली में कई दिन से तमाम चुनौतियों का सामना करते हुए पड़े हैं। लेकिन सरकार न तो ठीक प्रकार बात कर रही है और न ही कानूनों को वापिस ले रही है। ये कानून लागू होने से उसके जैसे किसान अपनी जमीन व फसल होते हुए भी किरायेदार बन जाएंगे। फसलें कौड़ियों के भाव बिकेगी। इससे अच्छा तो यह है कि आज ही अपनी फ़सलों को नष्ट कर दिया जाए ताकि कल बड़े बड़े उद्यमी मेहनत पर डाका न डाल सकें। हमारे नेताओं ने भी मंच के माध्यम से आह्वान किया है कि अपनी फसलें चाहें जलानी पड़ें लेकिन पूंजीपतियों के हवाले नही करेंगे। इसी डर से अपनी पांच एकड़ में खड़ी गेहूं की फ़सल पर ट्रैक्टर चलाया है। साथ ही खड़ी एक एकड़ गन्ने की फसल में भी आग लगा दी। 

जींद और रोहतक के किसान भी चला चुके गेहूं पर ट्रैक्टर 

इससे पहले रविवार को जींद के गुलकणी गांव के किसान राममेहर ने तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में रविवार को ट्रैक्टर चला कर अपनी दो एकड़ गेहूं की फसल पर ट्रैक्टर चला दिया। राममेहर 10 एकड़ में खेती करता है। उसने कहा कि अगर सरकार इन तीनों कृषि कानूनों को वापस लेकर किसानों की मांगें नहीं मानती है, तो वह अपनी बाकी फसल पर भी ट्रैक्टर चलाकर उन्हें नष्ट कर देगा। वहीं, सोमवार को रोहतक के महम के भैणी सुरजन गांव में एक किसान ने सोमवार को तीन कृषि कानूनों के विरोध में अपनी साढ़े तीन एकड़ फसल पर ट्रैक्टर चलाकर फसल नष्ट कर दी थी।

यह भी पढ़ेंः Kisan Andolan: रोहतक में किसान ने गेहूं पर चलाया ट्रैक्टर, किसान नेता बोले- विरोध करने के और भी तरीके

यह भी पढ़ेंः जींद में किसान ने दो एकड़ गेहूं पर चलाया ट्रैक्टर, बोला- जो टिकैत कहेंगे, उसका पालन करेंगे

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021