कैथल/गुहला चीका, जेएनएन। हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी में अंतर्कलह तेज हो गई है। प्रधान गुट व असंतुष्ट गुट में पूरी तरह घमासान मचा हुआ है। जिसके चलते अब एचएसजीपी अविश्वास व विश्वासमत के चक्रव्यूह में पूरी तरह फंसती हुई नजर आ रही है।

मंगलवार को असंतुष्ट गुट व वीरवार को प्रधान गुट द्वारा किए गए खुलासे के बाद शुक्रवार को कमेटी के चीका स्थित मुख्यालय से असंतुष्ट गुट के एक और सदस्य अंबाला के जसबीर सिंह दोसड़का को एक अधिकृत पत्र जारी कर दिया गया। उक्त पत्र प्रबंधक कमेटी के लेटरपेड पर सरबजीत सिंह के हवाले से जारी किया गया है। पत्र में जसबीर सिंह को सूचित किया गया है कि उन्होंने आठ अप्रैल 2017 को गुरुघर से निजी खर्च के लिए एक लाख रुपये लिए थे, जो कि गैरकानूनी हैं। पत्र में आदेश दिया गया है कि वे 15 दिन के अंदर यह राशि गुरुघर में जमा करवाएं अन्यथा उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
अपार सिंह को भी जारी किया गया था पत्र
बता दें कि इससे पहले एक अन्य सदस्य अपार सिंह को भी एक ऐसा ही पत्र जारी किया गया था। इसमें उन पर आरोप था कि उन्होंने अपने निजी खर्च के लिए गुरुघर से एक लाख 72 हजार रुपये की राशि ली हुई है। इसे वे 15 दिन के भीतर भर दें अन्यथा उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। परंतु अपार सिंह ने यह कहते हुए तयशुदा समय से पहले ही उक्त राशि भर दी थी कि उक्त राशि गुरुद्वारे की जमीन के एक ठेकेदार के नाम खड़ी थी, जिसकी जिम्मेदारी उन्होंने ली थी। नतीजतन उक्त ठेकेदार ने राशि उन्हें दे दी है। इसे उन्होंने गुरुघर में जमा करवा दिया है।
दिनभर गर्म रहा चर्चाओं का बाजार
इस बीच शुक्रवार को एक और सदस्य को राशि जमा करवाने हेतु पत्र जारी किया गया तो सिख संगत सहित कमेटी के सभी सदस्यों में इस बात को लेकर चर्चा का बाजार गर्म हो गया कि यदि ऐसे ही जांच जारी रही तो न जाने एचएसजीपीसी से निजी खर्चों के लिए पैसे लेने वालों के राज खुल सकते हैं। इस संबंध में जब जसबीर खालसा से संपर्क करने के लिए जब उनके मोबाइल पर संपर्क किया गया तो उनसे संपर्क नहीं हो पाया। इसके बाद जब असंतुष्ट गुट के सदस्य व पूर्व प्रधान जगदीश सिंह झिंडा से बात करने का प्रयास किया गया तो उनका मोबाइल भी बंद था।
15 दिन का नोटिस दिया गया 
हरियाणा सिख गुरुद्वारा कमेटी के सचिव सरबजीत सिंह ने पत्र जारी करने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि उक्त सदस्य को 15 दिन का नोटिस दिया गया है। राशि जमा न करवाने के एवज में उनके खिलाफ कार्रवाई की भी चेतावनी दी गई है।
व्यक्तिगत रंजिश में दिया नोटिस
जसबीर सिंह दोसड़का ने कहा कि यह नोटिस व्यकि्तगत रंजिश के तहत दिया गया है। उन्होंने आज तक गुरु के घर में पैसे जेब से ही खर्च किए हैं, कभी यहां से नहीं लिया। जिस एक लाख रुपये की बात सचिव द्वारा की गई है वह पैसा सबकी सहमति से एक फौजी गरीब परिवार को मदद के लिए दिया गया था। जिसका रिकार्ड आज भी गुरुद्वारे के कार्यालय में दर्ज है। उन्होंने कहा कि दादुवाल अपने सेवादारों के लिए स्वयं दो लाख रुपया गुरुद्वारा से ले चुके हैं और इस पैसे का उन्होंने अभी तक कोई हिसाब नहीं दिया।
मेरे पास पूरा बहुमतः दादुवाल 
हरियाणा सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान बलजीत सिंह दादुवाल ने कहा कि उनके पास पूरा बहुमत है। यदि कोई कानून की प्रक्रिया दोहराते हुए उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाता है तो उस स्थिति से भी निपटा जाएगा।

Edited By: Umesh Kdhyani