समालखा (पानीपत), जागरण संवाददाता। चुलकाना धाम स्थित श्री श्याम बाबा मंदिर में वीरवार को आश्विन मास की एकादशी के दिन बाबा के दर्शन को लेकर भक्तों की भीड़ उमड़ी। कोई हाथों में झंडे लेकर नाचते गाते तो कोई लेटकर बाबा के दर पर पहुंचा। उन्होंने बाबा के चरणों में मत्था टेक दीप जलाने के साथ पीपल के पेड़ पर धागा बांधकर मन्नत मांगी। वहीं मंदिर कमेटी की ओर से व्यवस्था को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए। कमेटी प्रधान रोशन लाल छौक्कर ने खुद मोर्चा संभाले रखा।

सुबह चार बजे पहुंचने लगे थे भक्तजन

श्याम बाबा के प्रति भक्तों की आस्था साल दर साल बढ़ती जा रही है। पहले हजारों की संख्या में भक्तजन आते थे, लेकिन अब संख्या लाख से ज्यादा तक पहुंच रही है। वीरवार को भी चांदनी एकादशी पर सुबह चार बजे से ही भक्तजन बाबा के दर्शन को लेकर पहुंचने लगे थे और देर शाम तक आने व जाने का सिलसिला चलता रहा। भक्तों की लाइन में युवाओं व महिलाओं के साथ बुजुर्ग भी पीछे नहीं थे। जो करीब एक किलोमीटर तक लंबी लगी थी।

युवाओं ने संभाली व्यवस्था की जिम्मेदारी

मंदिर में भक्तों की भीड़ के बीच व्यवस्था की जिम्मेदारी चार सिक्योरिटी गार्ड के साथ गांव के ही 22 युवाओं की टोली ने संभाल रखी थी। जो भक्तों को लाइन में करने से लेकर बाबा के दर्शन कराने तक काम कर रहे थे। मेले के दौरान किसी तरह की अप्रिय घटना न हो, इसको लेकर भी युवाओं की टोली पुरी तरह से सचेत थी। यहीं कारण था कि भक्तों की खासी भीड़ के बावजूद भी किसी तरह की अव्यवस्था नहीं दिखी।

गेंदे की जगह गुलाब का फूल

श्याम बाबा पर भक्तजन प्रसाद के साथ गेंदे के फूल लेकर पहुंचते थे। जो इधर उधर गिराने पर सफाई व्यवस्था खराब होती थी, लेकिन वीरवार को भक्तों के हाथ में गेंदे की जगह गुलाब का फूल दिखा। ऐसे में भक्तों ने बाबा के चरणों में मत्था टेकने के बाद प्रसाद के साथ गुलाब का फूल चढ़ाया। प्रसाद में देसी घी का चूरमा, पेड़ा, मोटी बूंदी का लड्डू, बेसन लड्डू आदि लेकर पहुंचे।

हर बार बढ़ रही है भक्तों की भीड़

मंदिर कमेटी के प्रधान रोशन छौक्कर ने कहा कि श्याम बाबा दरबार पर आने वाले हर भक्त की मनोकामना पूर्ण करते है।यहीं कारण है कि उनके भक्तों की भीड़ हर बार बढ़़ रही है। एकादशी को भी एक लाख से ज्यादा दूर दूर से भक्त बाबा के दर्शन के लिए पहुंचे। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को द्वादशी के दिन भी भक्त दर्शन को लेकर आएंगे।

Edited By: Ram kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट