यमुनानगर, जागरण संवाददाता। यूरिया खाद के स्टाक में अनियमितताएं व रेड के दौरान दुकानें बंद करने पर कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की टीम ने छह विक्रेताओं के लाइसेंस निलंबित कर दिए। साथ ही प्रतिष्ठान सील कर कारण बताओ नोटिस चस्पाया दिया गया। विभाग की इस कार्रवाई से जिले के खाद विक्रेताओं में हड़कंप मच गया। इनमें से चार विक्रेता करेहड़ा खुर्द व दो शादीपुर के हैं।

शिकायत पर ने की रेड

कृषि में उपयोग होने वाले यूरिया को प्लाईवुड फैक्ट्री में प्रयोग होने की शिकायतों पर कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के संयुक्त निदेशक डा. मंजीत नैन, कृषि उप निदेशक डा. प्रदीप मील व कृषि उप मंडल अधिकारी डा. राकेश पोरिया की टीम ने करेहड़ा खुर्द व शादीपुर एरिया स्थित विक्रेताओं पर रेड की। इस दौरान एक विक्रेता विक्रेता की पोस मशीन, भौतिक स्टाक व स्टाक रजिस्टर में भिन्नता पाई गई। मूल्य सूची भी नहीं लगाई थी। इसके अलावा अन्य विक्रेता रेड की भनक पडऩे पर मौके से फरार हो गए। जिस पर कार्रवाई करते हुए टीम ने छह फर्मों के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए हैं। साथ ही गोदाम व दुकानों को सील कर दिया गया है।

इन फर्मों के लाइसेंस रद

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डा. प्रदीप मीन ने बताया कि इन विक्रेताओं में मैसर्ज डीआर इंटरप्राइजेज करेहड़ा खुर्द, मैसर्ज हैदर फर्टिलाइजर एंड ट्रेडिंग कंपनी करेहड़ा खुर्द, मैसर्ज राधिका ट्रेडिंग कंपनी करेहड़ा खुर्द, मैसर्ज किसान सोसाइटी करेहड़ा खुर्द, हरियाणा ट्रेडर्स शादीपुर व किसान ट्रेडिंग कंपनी खजूरी रोड शामिल है। संयुक्त निदेशक डा. मंजीत नैन ने बताया कि यह कार्रवाई विभाग की ओर से जारी रहेगी। जो भी खाद विक्रेता किसानों के हक का सब्सिडी वाला यूरिया प्लाईवुड में सप्लाई करेगा या कालाबाजारी करेगा उसके विरूद्ध कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

प्लाईवुड इकाइयों में होता सप्लाई

कृषि उपयोग का यूरिया प्लाइवुड इकाइयों में अवैध रूप से सप्लाई किया जाता है। रात के अंधेरे में यह खेल खेला जाता है। पूर्व में कई बार इस तरह की गतिविधियां सामने आ चुकी है। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की टीम ने मौके पर ही खाद पकड़ा। डीलर सहित छह प्लाइवुड संचालकों पर केस भी दर्ज हो चुका है। ये मामला गृह मंत्री अनिल विज व भाजपा प्रदेशाध्यक्ष तक पहुंचा था। व्यापारियों ने इस कार्रवाई का विरोध किया था। उनका कहना था कि सील बंद कमर्शियल बैग से सैंपल लिए गए थे। फेल आने पर उनकी क्या खामी है।

Edited By: Anurag Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट