पानीपत, जागरण संवाददाता। कोर्ट परिसर के नए चैंबर की पार्किंग के पास एक युवक का संदिग्ध हालात में एक वकील की मौत हो गई। वकील चार बहनों का इकलौता भाई था। आशंका जताई जा रही है कि वकील की मौत चैंबरों की तीसरी मंजिल से गिरकर हुई है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत की असल वजह का पता चला पाएगा।

थाना शहर पुलिस ने गत रात्रि डायल 112 पर स्वजनों ने सूचना दी कि सेक्टर-छह निवासी योगेश भानखड़ (28) संदिग्ध हालात में घर से लापता है। संभावना जताई कि वह कोर्ट कांप्लेक्स में अपने चैंबर में न गया हो। पुलिस मौके पर पहुंची तो योगेश चैंबरों की नई बिल्डिंग के नीचे जमीन पर गिरे हुए थे। उन्हें सिविल अस्पताल में दाखिल कराया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

योगेश के पिता रणधीर ने बताया कि करीब चार महीने पहले हादसे में उसके बेटे योगेश के पैर में चोट लगी थी। उसका बेटे ने सुसाइड नहीं किया है। चोट के कारण बेटे ठीक से नहीं चल पा रहा था। बेटा छड़ी के सहारे चलता है।

इसी बीच जब वह चैंबरों की बिल्डिंग से नीचे उतर रहा था, तो उसकी छड़ी रेलिंग में अड़ गई होगी, जिससे वह अनियंत्रित होकर नीचे गिर गया होगा और उसकी मौत हो गई। मृतक चार बहनों का इकलौता भाई था। इस बारे में थाना शहर के एसआइ जितेंद्र ने बताया कि सिविल अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।

ऊर्जावान साथी खो दिया

जिला बार एसोसिएशन के सचिव वैभव देशवाल ने बताया कि योगेश कुमार वर्ष 2008 से वकालत कर रहा है। वह एक ऊर्जावान साथी था। सभी के साथ मिलनसार था। योगेश की मौत से उन्हें दुख है।

Edited By: Anurag Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट